page level


Wednesday, October 17th, 2018 09:54 AM
Flash

भारत पर मेहरबान हुए ट्रंप, कहा- भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर निकाला




भारत पर मेहरबान  हुए ट्रंप, कहा- भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर निकालाWorld



अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और भारत के बीच दोस्ताना रिश्ता है। अमेरिका हमेशा से ही भारत की तारीफ करता आया है। इस बार भी डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की तारीफों के पुल बांधे हैं या कह सकते हैं कि ट्रंप भारत पर कुछ इस कदर महेरबान हो गए हैं कि उन्होंने भारत के प्रयासों की सराहना की।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र में विश्व के नेताओं को संबोधित करते हुए ट्रंप ने भारत को एक मुक्त समाज बताया। ट्रंप ने कहा कि भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर निकालते हुए एक मध्यम वर्ग में लाकर खड़ा किया है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंगलवार को शुरू हुए जनरल डिबेट को दूसरी बार संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘भारत है, जहां का समाज मुक्त है और एक अरब से अधिक आबादी में लाखों लोगों को सफलतापूर्वक गरीबी से ऊपर उठाते हुए मध्यम वर्ग में पहुंचा दिया।’

करीब 35 मिनट के संबोधन में उन्होंने कहा कि वर्षों से संयुक्त राष्ट्र महासभा के हॉल में इतिहास देखा गया। उन्होंने कहा कि हमारे समक्ष अपने देशों की चुनौतियों, अपने समय के बारे में चर्चा करने आए आए लोगों के भाषणों, संकल्पों और हर शब्दों एवं उम्मीदों में वहीं सवाल कौंधते हैं जो हमारे जेहन में उठते हैं।

हमारा सम्मान करो, मिलेगी मदद

ट्रंप ने अमेरिका से मदद ले रहे देशों को चेतावनी भी दी है। इसमें पाक भी शामिल है। उन्होंने कहा है कि भविष्य में अमेरिका सिर्फ ऐसे देशों की मदद करेगा जो उन्हें दिल से सम्मान देगा। हम देखेंगे कि कौन क्या कर रहा है और क्या नहीं। हम जिन्हें हमारे डॉलर देते हैं, वाकई में वो हमारा सम्मान करते भी हैं या नहीं।

इसके अलावा ट्रंप ने अपने भाषण में ‘अमेरिका फर्स्ट’ की अपनी नीति पर जोर देते हुए कहा कि वह देशभक्ति में अपनी आस्था के कारण वैश्वीकरण की विचारधारा को खारिज करते हैं। उन्होंने चीन, ईरान और वेनेजुएला के खिलाफ अपनी कड़ी नीतियों को दोहराया। उन्होंने कहा कि जो सपने यूएनजीए के हॉल में आज दिखे वे उतने ही विविध हैं जितने इस पोडियम पर खड़े लोग और उतने ही विविध हैं जितना संयुक्त राष्ट्र में दुनिया के देशों का प्रतिनिधित्व है। उन्होंने कहा, ‘यह वास्तव में कुछ है। वास्तव में यह काफी महान इतिहास है।’

अमेरिकी राष्ट्रपति ने तेल उत्पादक देशों की संस्था ओपेक से अपनी ‘भयावह कीमतों’ को कम करने की मांग की। ट्रंप ने सऊदी अरब के साहसिक नये सुधारों और इस्राइली गणतंत्र की 70वीं जयंती का उदाहरण दिया।

यह भी पढ़ें

बेहद हॉट है डोनाल्ड ट्रंप की बहू वेनेसा, फोटोज में देखिए बोल्ड लुक

सोनम कपूर ने डोनाल्ड ट्रंप को बताया ‘मूर्ख’, जानिए और भी आगे क्या कहा

ट्रंप ने Iran को दिया झटका, किया ये बड़ा ऐलान

Google पर भड़के “ट्रंप”, कहा- इडियट सर्च करते ही क्यों दिखती है मेरी तस्वीर

 

 

Sponsored






You may also like

No Related News