Wednesday, August 23rd, 2017
Flash

इस देश में कार पार्क करने पर मिलते है पैसे, 1लाख रू. सालाना कमाते है




Business

Sponsored




बड़े-बड़े शहरों में आजकल पार्किंग की काफी दिक्कत रहती हैं। और अगर कहीं पर भी पार्क करते है तो उसके बदले हमें पैसा देना पड़ते है। ऐसा भी नहीं कि 10 और 20 रूपए, वो भी घंटों के हिसाब से देना पड़ता है। लेकिन अगर आपसे कहे कि, ‘आप अपनी कार यहा पार्क कर दीजिए और पैसा कमाइए’ आपको लगेगा ये क्या बोल रहे है, जी हां आपने सही सुना है, दुनिया में एक ऐसा देश है जहां पर लोग कार पार्क करके सालाना लाखों रूपए कमाते है।

दुनिया में भी बहुत सारे तरीके है पर कम सोर्सेस में कमाने की बात ही अलग होती हैं। डेनमार्क एक ऐसा देश है जहां पर लोग अपनी गाड़ी को पार्किंग में लगाकर पैसा कमा रहे है। और कुछ 500 या 1000 रूपये नहीं बल्कि सालाना कमाई कर रहे है। इसके जरिए वे सालाना करीब 1530 डॉलर मतलब करीब 1 लाख रूपये कमा रहे है।

यूरोप में 100 से अधिक कारों को ट्रायल पर रखा है
इसके लिए निसान मोटर कॉर्प ने पूरे यूरोप में 100 से अधिक कारों को ट्रायल पर रखा है लेकिन डेनमार्क के लोग ही ग्रिड में पॉवर वापस देकर पैसे कमाने में लगे हुए है। इसके लिए कार के मालिक टू – वे चार्जिंग प्वाइंट का इस्तेमाल करके सालभर में करीब 1300 यूरो तक कमा रहे है।

इलेक्ट्रिक कार वाले कर सकते है यह काम
बता दे कि निसान मोटर कॉर्प ने बताया है कि इलेक्ट्रिक कारों में लगी बैटरी किस तरह सप्लाई और डिमांड के बीच बैलेंस रखने में मदद कर सकती है। और जो लोग इस तरह की कारो का उपयोग करते है उनके लिए यह कमाई का नया जरिया भी बना सकता है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इलेक्ट्रिके कार के मालिक अपने कार को पार्किंग में लगाकर एक्सेस पॉवर को वापस ग्रिड में डाल रहे है।

हालांकि एक इंटरव्यू में निसान यूरोन के एनर्जी सर्विसेज के डायरेक्टर काररेनजा ने कहा कि, ‘अगर आप बिना सोचे या बिना इलेक्ट्रिक ग्रिल पर पड़ने वाले इम्पैक्ट के बड़ी संख्या मे इलेक्ट्रिक कारों से ग्रिड में पॉवर लौटाने में लगाते है तो इससे नई परेशानी शुरू हो सकती है जो कि आपकी कार के लिए नुकसानदायक है।’

Sponsored



Follow Us

Youthens Poll

‘‘आज़ादी के 70 साल’’ इस देश का असली मालिक कौन?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Related Article

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories