page level


Monday, September 24th, 2018 03:11 AM
Flash

जानिए, 5 बार फेल और 30 नौकरियों से रिजेक्ट हुए Jack Ma कैसे बने अरबपति




जानिए, 5 बार फेल और 30 नौकरियों से रिजेक्ट हुए Jack Ma कैसे बने अरबपतिBusiness



अलीबाबा के फाउंडर और चीन के सबसे अमीर शख्स जैक मा रिटारयमेंट लेने जा रहे हैं। उन्होंने हाल ही में अपने रिटायरमेंट की घोषणा कर सबको चौंका दिया है। सोमवार को अब वे कंपनी में अपना अहम पद छोड़ देंगे। 52 साल में अपने रिटायरमेंट की घोषणा करने वाले जैक मा ने कहा है कि किसी कंपनी का सीईओ बनने से अच्छा है लोगों को पढ़ाना। इसलिए जल्द ही अब वे नई भूमिका में नजर आ सकते हैं।

बता दें कि अलीबाबा वो ही कंपनी है जिसका भारत में यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज ऐप सबसे ज्यादा पॉपुलर है। जैक मा की कुल नेटवर्थ 2.88 लाख करोड़ रुपये है। लेकिन ये सफलता जैक को यूं ही नहीं मिली। उन्होंने अपनी जिन्दगी में काफी संघर्षं किया है, फिर भी आखिर तक हारे नहीं और उनकी उम्मीद ही उनकी सफलता की वजह बनी। तो चलिए जानते हैं जैक मा के संघर्षों के प्रेरणादायक किस्से।

टूरिस्ट गाइड से बने दुनिया के सबसे अमीर शख्स-

आपको जानकर हैरत होगी कि एक समय जैक मा टूरिस्टों को गाइड करते थे। जब वे 13 साल के थे तभी उन्होंने अंग्रेजी सीखनी शुरू कर दी थी, ऐसा चीन में कम ही लोग करते हैं। अंग्रेजी सीखने के लिए उन्होंने किसी शिक्षक का सहारा नहीं लिया था बल्कि वे टूरिस्ट गाइड बन गए थे और टूरिस्टों को घुमाने के दौरान वे अंग्रेजी में बोलते थे। उन्होंने यह काम करीब नौ साल तक किया।

ऐसे हुई अलीबाबा की शुरूआत-

जैक इंटरनेट की दुनिया में बिजनेस करने से पहले एक ट्रांसलेशन कंपनी चलाते थे। जिसके बाद वे अमेरिका गए और वहां उन्होंने इंटरनेट देखा और उन्होंने सबसे पहला शब्द इंटरनेट पर बीयर (भालू) टाइप किया। उनके सामने कई देशों के बीयर ऑप्शन दिखे लेकिन चाइनीज बीयर नहीं दिखा। जैक ने सबसे पहले चाइना पेजस नाम की इंटरनेट कंपनी बनाई। इस कंपनी को शुरू करने के लिए जैक ने अपनी बहन से पैसे उधार लिए थे, लेकिन यह कंपनी फेल हो गई। इसके बाद उन्होंने अलीबाबा की शुरुआत की। जैक का दावा है कि उनकी कंपनी अगले 102 सालों तक चलती रहेगी।

KFC ने भी नौकरी देने से कर दिया था मना-

जैक मा ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने अपनी जिन्दगी में कभी हार नहीं मानी। जैक 5वीं (प्राइमरी) क्लास में 2 बार और 8वीं क्लास तक 3 बार फेल हुए थे। उन्‍हें अमरीका की हावर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन देने से करीब 10 बार मना कर दिया गया था। नौकरी के लिए लगभग 30 से ज्यादा बार रिजेक्ट होने के बाद भी हिम्मत ना हार कर संघर्ष किया और आश्चर्य चकित कर देनेवाली सफलता की एक नई कहानी गढ़ दी ।  उन्‍हें एक समय KFC  में भी नौकरी नहीं मिल पाई थी, लेकिन आज उनकी कंपनी की नैट इनकम 25,166 करोड़ रूपए तक पहुंच गई है।

सिर्फ ईमेल और वेब सर्फिंग ही आता है~

जैक मा ने खुद एक इंटरव्यू में माना है कि भले ही वे इंटरनेट कंपनी अलीबाबा चलाते हैं, लेकिन तकनीक को लेकर उनकी जानकारी सीमित है। मा का कहना है कि उन्हें सिर्फ ईमेल करना और वेब सर्फिंग ही आता है। 2013 में सीईओ पद से इस्तीफा देने के बाद आज भी वह कंपनी का प्रमुख चेहरा हैं। वह पहले ऐसे विदेशी कारोबारी हैं जिनसे डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद मिले थे।

कॉलेज फ्रेंड से की शादी

नेशनल कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम में फेल होने के बाद मा ने 1988 में ग्रैजुएशन किया। उसी साल मा ने अपनी प्रेमिका जैंग यिंग से शादी की। दोनों की मुलाकात कॉलेज में हुई थी। उस दौर में मा हर महीने 15 अमेरिकी डॉलर कमाते थे। जैंग यिंग ने अपने पति के बारे में कहा, “मा हैंडसम नहीं हैं, लेकिन मुझे उनसे इसलिए प्यार हो गया, क्योंकि वे ऐसे कई काम कर सकते हैं जो हैंडसम पुरुष नहीं कर सकते।”

यह भी पढ़ें

खरबों के मालिक जैक मा फिल्म में करेंगे काम, जानिए क्या वजह रही होंगी

शाहरूख को बधाई देने पहुंचे फैन्स के साथ हो गई ये घटना

पुतिन को तोहफे में ‘कुत्ता’ ही क्यों मिला?

पाकिस्तान में आतंकवाद पर पैनी नजर रखने में अमेरिका की मदद कर सकता है भारत

 

 

 

Sponsored