page level


Sunday, January 21st, 2018 11:46 AM
Flash
15/01/2018

विश्व के तीसरे श्रेष्ठ बिल्डिंग डिजाइनों में चुने गए भारत के मोहित




विश्व के तीसरे श्रेष्ठ बिल्डिंग डिजाइनों में चुने गए भारत के मोहित

Sponsored




हाल ही में आयोजित हुए इंटरनेशनल आर्किटेक्चर डिजाइन कॉन्टेस्ट के फाइनल में उज्जैन के आर्किटेक्ट स्टूडेंट मोहित नाटाणी खंडेलवाल के मॉडल को दुनिया की टॉप 5 फ्यूचरिस्टिक डिजाइन में से एक चुना गया है, साथ ही उनकी इस डिजाइन को विश्व में तीसरी श्रेष्ठ डिजाइन के रूप में चुना गया है। इस मॉडल की खासियत यह है कि इसे खदान की उजाड़ पड़ी जमीन के लिए बनया गया है। ग्रीन कॉन्सेप्ट पर बनी इस डिजाइन में रिसाइकल्ड मटेरियल के इस्तेमाल का प्रोविजन रखा गया था। आपको बता दें कि यह बिल्डिंग अपनी बिजली खुद बनाएगी और पानी के मामले में भी सेल्फ डिपेंडेंट होगी। इस बेहतरीन कॉन्सेप्ट के लिए मोहित को सिंगापुर इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्चर ने सम्मानित भी किया है।

यह है इस बिल्डिंग की खासियत

-मोहित ने बताया कि इस डिजाइन की सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसे एक ऐसी जगह के लिए बनाया गया है जो उजाड़ और बंजर है। मैंने नासिक की एक ऐसी जमीन को चुना था, जिस पर पहले पत्थरों की खदानें थीं, लेकिन अब ये जगह पूरी तरह से उजाड़ पड़ी है। बिल्डिंग बनाने के लिए मोड्यूलर कंस्ट्रक्शन मॉडल का ऑप्शन रखा था। इससे निर्माण का समय काफी कम हो जाता है। पूरे प्लान को सिर्फ दो साल में इम्प्लीमेंट किया जा सकता है।

-पूरा कैंपस बिजली और पानी के मामले में आत्मनिर्भर होगा। बिल्डिंग की छत पर सोलर और साइड्स पर विंड पैनल लगाकर बिजली बनाई जाएगी, इसके अलावा पानी के लिए भी किसी बाहरी सोर्स पर निर्भर नहीं रहना होगा। कैंपस में हर साल करीब 12 करोड़ लीटर पानी की व्यवस्था की जाएगी। और पानी की व्यवस्था वॉटर हार्वेस्टिंग से की जाएगी।

-इस बिल्डिंग को बनाने में रिसाइकल्ड चीजों का इस्तेमाल करने का प्रोविज़न है। इस तरह बिल्डिंग बनाने में भी ग्रीन मटेरियल का उपयोग किया जाएगा। बिल्डिंग में जहाज के लोहे और स्टील का उपयोग किया जाएगा। इस पूरी डिजाइन को बनाने में यह भी ध्यान रखा है कि आने-जाने में ह्यूमन एनर्जी खर्च ना हो इसलिए बहुत कुछ काम उस बिल्डिंग के अंदर ही होगा।

-अब सबसे खास बात यह बिल्डिंग बन तो जाएगी लेकिन इसकी कीमत जानकर आप चौंख जाओंगे। जी हां! इसको बनाने की कीमत करीब 500 करोड़ रूपए होगी। इसे 2 साल में तैयार किया जा सकेगा। इस कैंपस के अंदर 100 फ्लैट्स, 100 से ज्यादा कमर्शियल स्टेबलिशमेंट, हॉस्पिटल, क्लब हाउस कम्यूनिटी सेंटर होंगे।

आपको बता दें कि इस कॉन्टेस्ट में इस तरह का डिजाइन बनाना था जो प्राकृतिक आपदाओं का सामना कर सकें, एनर्जी एफिशिएंट और एनर्जी और पानी के मामले में सेल्फ डिपेंडेंट भी हो। इस कॉनटेस्ट में 60 देशों के लगभग 300 से ज्यादा आर्किटेक्चर स्टूडेंट्स ने भाग लिया था।

ये टॉप 5 स्टूडेंट रहे इस कॉम्पिटिशन के विजेता

1.Name of Contestant   : Daryl Venpin
Name of School             :  Anhalt University of Applied Sciences
Project theme              :  Towards Green Tourism

2.Name of Contestants : Bayu Andika Putra, Devi Johana Tania, Achmad Y. Fandi N., Rabita Abari Sitompul and Primaningtyas K. Cintami

Name of School             : Bandung Institute of Technology
Project theme              : Fill-in Kampong

3.Name of Contestant : Mohit Natani
Name of School            : Gujarat University
Project theme              : Reviving The Abandoned Quarries

4.Name of Contestants : Ridwan Arifin, Ulfa Nur Fauziah, Eka Montana, Aji Nugroho and Ahmad Kauka Budin
Name of School            : Technology University of Yogyakarta
Projesct theme              : The Vifa

5.Name of Contestants : Michael Joseph V. Concepcion
Name of School             : University of Santo Thomas
Projesct theme              : The Big One

Sponsored






Loading…

You may also like

No Related News

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें


Select Categories