page level


Thursday, August 16th, 2018 05:53 AM
Flash

2019 के चुनावों को लेकर केजरीवाल ने किया ये बड़ा ऐलान….




2019 के चुनावों को लेकर केजरीवाल ने किया ये बड़ा ऐलान….Politics



हमेशा से मोदी सरकार की नीतियों को गलत साबित करने वाले आप के अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में 2019 के चुनावों को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। भले ही अभी मोदी सरकार के खिलाफ महागठबंधन का रूप तैयार नहीं हुआ हो, लेकिन केजरीवाल ने साफ कर दिया है कि वे 2019 के चुनाव में मोदी सरकार के खिलाफ महागठबंधन में शामिल नहीं होंगे । इसका मतलब है कि केजरीवाल अकेले अपनी दम पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने दूसरी पार्टियों को कमेंट करते हुए कहा कि जो पार्टियां गठबंधन का हिस्सा रहेंगी, उनकी देश के विकास में कोई भूमिका नहीं है।

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने ये ऐलान हरियाणा के रोहतक में किया है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि उनकी पार्टी हरियाणा विधानसभा चुनाव और लोकसभा की हर सीट पर चुनाव लड़ेगी। केजरीवाल रोहतक में आप प्रदेश अध्यक्ष द्वारा हरिद्वार से लाए गए जल से शिवालय में जलाभिषेक करने आए थे। यहां उन्होंने मीडिया से भी बातचीत की। सीएम केजरीवाल ने कहा कि लोग कांवड़ लेकर आते हैं, तो उनकी मुराद होती है।

हमने जो किया 70 साल में कोई पार्टी न कर सकी-

केजरीवाल ने कहा, ‘गठबंधन की राजनीति मायने नहीं रखती है। मेरे लिए राजनीति जनता और उनके विकास के लिए है। पिछले 3 सालों में जो हमने किया है ये पार्टियां 70 सालों में भी नहीं कर पाई।’केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य के लिए जो कुछ भी करने की कोशिश की, उसमें मोदी सरकार ने बस रोड़े ही अटकाए हैं।

क्या इस स्टैंड से राजनीतिक जमीन बचा रहे हैं केजरीवाल-

केजरीवाल के इस ऐलान के बाद तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं। लोगों का मानना है कि ऐसा स्टैंड लेने के पीछे केजरीवाल का कोई गणित तो है या फिर वे अपनी राजनीतिक जमीन को बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। दरअसल दिल्ली में AAP का मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस, दोनों से है। इसी तरह पंजाब में वह कांग्रेस और अकाली+BJP के मुकाबले खड़ी है। केजरीवाल ने कहा कि 2019 में आप किसी भी गठबंधन का हिस्सा नहीं होगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी हरियाणा विधानसभा चुनाव और लोकसभा की हर सीट पर चुनाव लड़ेगी।

दिल्ली में विकास, हरियाणा में क्या…

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के विकास की कहानी आज पूरी दुनिया को पता है। दिल्ली पूर्ण राज्य नहीं, मैं आधे राज्य का चौथाई मुख्यमंत्री हूं। मेरे सामने दिक्कतें पैदा कीं। अड़चनें लगाईं, फिर भी विकास किया। खासतौर से शिक्षा, बिजली, स्वास्थ्य व पानी के क्षेत्र में। कहा कि सरकारी स्कूलों की कायापलट की। हमनें दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांतिकारी काम किया है। दिल्ली की तुलना में हरियाणा विकास के मामलें में पीछे है। मनोहर लाल खट्टर को दिल्ली सरकार से सीखना चाहिए कि विकास कैसे किया जाता है। केजरीवाल ने कहा कि जब आप सरकार बिजली, पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में बिना पूर्ण राज्य के क्रांति ला सकती है तो खट्टर सरकार क्यों नहीं कर सकती है।

यह भी पढ़ें

रविवार को इंदौर आएँगे केजरीवाल, कुछ इस तरह से की जा रही तैयारी

केजरीवाल की माफी पर आप में बगावत, भगंवत मान ने दिया इस्‍तीफा

केजरीवाल के धरना सत्याग्रह से मुखरित हुए कतिपय सवाल

दिल्ली: उपराज्यपाल का ‘विषदंत’ टूटा, केजरीवाल को अभयदान

Sponsored