page level


Tuesday, September 25th, 2018 11:10 AM
Flash

World population day : 2030 तक भारत की आबादी हो जाएगी 1 अरब 65 करोड़, चीन भी रह जाएगा पीछे….




World population day : 2030 तक भारत की आबादी हो जाएगी 1 अरब 65 करोड़, चीन भी रह जाएगा पीछे….



11 जुलाई को वल्र्ड पॉपुलेशन डे मनाया जाता है।  इसका मकसद दुनियाभर में तेजी से बढ़ती आबादी और लोगों के रहन-रहन के स्‍तर को लेकर जागरूकता पैदा करना है।

एक अनुमान के मुताबिक, भारत की जनसंख्‍या 10 जुलाई, 2017 तक करीब 1 अरब, 34 करोड़ हो चुकी है। ये आंकड़ा पूरी दुनिया की आबादी का 17.86% है। अभी दुनिया की आबादी करीब 7 अरब, 51 करोड़ है। आबादी के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। पहले स्‍थान पर चीन है। बता दें कि कि यूरोप के सारे देशों की कुल आबादी करीब 73 करोड़ है, जो अकेले भारत की तुलना में काफी पीछे है।

अनुमान के मुताबिक, 2025-30 तक भारत की जनसंख्‍या 1 अरब 65 करोड़ हो जाएगी। तब भारत चीन को पछाड़कर आबादी में नंबर वन बन जाएगा। तब तक दुनिया की आबादी 8 अरब 14 करोड़ हो चुकी होगी।

1000 AD में दुनिया की आबादी 40 करोड़

एक स्टडी के मुताबिक, 1000 AD में दुनिया की आबादी केवल 40 करोड़ थी। 1750 में दुनिया की आबादी बढ़कर 80 करोड़ हो गई। मतलब दुनिया की आबादी दोगुनी होने में 750 साल लग गए।

40 साल में दोगुनी हुई दुनिया की आबादी

यूएन के आंकड़ों के आधार पर दुनिया की बढ़ती आबादी का लाइव अपडेट देने वाली साइट worldometers.info के मुताबिक, दुनिया की आबादी 1804 में पहली बार 1 अरब तक पहुंची थी।  1960 में ये आंकड़ा 3 अरब पार कर गया। दिलचस्‍प बात यह है कि इसके बाद के सिर्फ 40 साल में (2000) ही दुनिया की आबादी दोगुनी होकर 6 अरब के आंकड़े को पार कर गई। एक अनुमान के मुताबिक, जुलाई 2017 तक दुनिया की आबादी 7.5 अरब है। यूएन का अनुमान है कि पूरी दुनिया की आबादी 2023 तक 8 अरब और 2056 तक 10 अरब को पार कर जाएगी।

यह भी पढ़ें

देश की 60 करोड़ आबादी पर “जल संकट” का कहर, इन राज्यों की स्थित बदतर

‘मुसालमानों की बढ़ती आबादी देश के लिए खतरे की घंटी’’ – मुनि तरूण सागर

बढ़ती आबादी : युवा भारत, विश्व आर्थिक शक्ति बनने की राह पर

दुनिया में कम हो रही है गरीबों की संख्या : विश्व बैंक

Sponsored






You may also like

No Related News