page level


Saturday, July 21st, 2018 04:06 PM
Flash

ये है भारत की पहली कॉमेडियन महिला, नौशाद अली को दी थी समुंद्र में कूद जाने की धमकी




ये है भारत की पहली कॉमेडियन महिला, नौशाद अली को दी थी समुंद्र में कूद जाने की धमकीEntertainment



भारत की पहली कॉमेडियन महिला टुन-टुन आज हमारे बीच में नही है लेकिन उनके गीत आज भी हम गुनगुनाते है और उनके अभिनय को आज भी सराहा जाता है। टुन-टुन का रियल नाम उमा देवी खत्री है। उमा देवी ने अपने माता-पिता को बचपन में होई खो दिया था। उनका पालन-पोषण उनके चाचा ने किया था लेकिन वह अपनी 13 साल की उम्र में घर से भाग गई थी। वह मुंबई आई और संगीत निर्देशक नौशाद अली से मिली।

उनके करियर की शुरुआत यहीं से हुई थी क्योंकि उमा देवी ने नौशाद अली के सामने बहुत जिद की और कहा कि यदि आपने मेरा गाना नहीं सुना तो मैं समुद्र में कूदकर जान दे दूंगी। इसके चलते नौशाद साहब ने उमा देवी का गाना सुना और उन्हें काम दे दिया. इसके बाद उमा देवी ने गाना गाया ‘अफसाना लिख रही हूँ।’ इस गाने ने उमा देवी के करियर को नई उड़ान दे दी लेकिन अब वह दौर था जब कई लोग संगीत के प्रति रुख कर रहे थे। यहीं कारण था कि उमा देवी ने अभिनय की और कदम बढ़ाए।

फिल्म ‘फोबिया’ में अपने अभिनय का जलवा दिखाएंगी ये अभिनेत्री

अब यहाँ भी उनकी एक इच्छा थी कि वे अभिनय के तौर पर काम दिलीप कुमार के साथ करे। उनकी यह इच्छा जल्द ही पूरी हो गई और उन्हें फिल्म ‘बाबुल’ के लिए चुना गया। फिल्म के एक सीन में उमा देवी को दिलीप कुमार के ऊपर गिरना होता है। इसके बाद दिलीप कुमार ने उमे देवी का नाम टुन-टुन रख दिया।

उन्होंने अपने 50 साल के करियर में सभी फ़िल्मी सितारों के साथ काम किया। उन्होंने करीब 198 फिल्मों में काम किया और उनकी आखिरी फिल्म 1990 में आई ‘कसम धंधे की’ थी। 90 के दशक के बाद टुन-टुन बड़े पर्दे से गायब हो गई और 24 नवंबर 2003 को इस दुनिया से अलविदा कह गई।

यह भी पढ़े:-

अब हॉलीवुड फिल्मों मे अभिनय करते नजर आएंगे नवाजुद्दीन

सालों बाद इतने बदल गए है शक्तिमान, ऐसे कर रहे अपना गुजारा

इस बिजनेसमैन की लड़की से शादी करेंगे, मिथुन के बेटे महाअक्षय चक्रवर्ती

14 की उम्र में एडल्ट फिल्म में काम कर फेमस हुई थी ये एक्ट्रेस, 4 दशक तक इंडस्ट्री पर किया राज

Sponsored