page level


Monday, July 23rd, 2018 12:06 AM
Flash

एक संत का आत्महत्या करना?




एक संत का आत्महत्या करना?



भय्यू महाराज एक गृहस्थ संत का आत्महत्या करना बहुत ही दुखद भरी घटना है। इस घटना ने अनेक प्रश्नचिन्ह समाज-देश के सामने खड़े कर दिए हैं। अलबत्ता तो अभी यह भी एक प्रश्न चिन्ह है कि उन्होंने आत्महत्या की? उनकी हत्या हुई? या उन्हें आत्महत्या के लिए प्रेरित किया गया?

पूरी कहानी एक पारिवारिक कलह और उससे उपजे तनाव के कारण आत्महत्या की ओर ले जा रही है किंतु ऐसा मान लेना इतना सरल नही है। कारण एक संत का आत्महत्या ( ? ) करना इतनी आसान बात नहीं है क्योंकि व्यक्ति संत तभी बनता है जिसे जीवन में आ रहे उतार-चढ़ाव, तनाव, दुख, खुशी इत्यादि का कोई असर नहीं होता। जो सांसारिक होते हुए भी उसमें लिप्त न हो, अलग रहता है इसलिए बात को पचा पाना मुश्किल है कि उन्होंने आत्महत्या की। परिवार में रहते हुए सतंत्व को पाना। समाज उत्थान, व्यक्ति उत्थान, देश उत्थान के लिए कार्य में लगे रहना, शांत-शौम्य स्वभाव के लिए पहचाने जाने वाला व्यक्ति कैसे आत्महत्या कर सकता है?

जिस व्यक्ति के पास पैसा, देश में मान-सम्मान, बड़ी हस्तियों में उनका वर्चस्व, कई बड़े मुद्दों को सुलझाने में उनकी सक्रिय भूमिका, ऐसे में कैसे वह आत्महत्या कर सकता है? क्या एक पारिवारिक कलह संतत्व प्राप्त व्यक्ति को हिला सकती है। जिस प्रकार बगैर आवेश में, सुसाइड नोट लिख कर, किसी को भी अंदेशा न हो इस प्रकार आत्महत्या कर ले, बात पच नहीं रही है। पारिवारिक कलह किस घर में नहीं होती। जब एक सामान्य व्यक्ति उसमें अपना आपा इस कदर नहीं खोता तब ऐसा व्यक्तित्व कैसे कर सकता है। जिस प्रकार की कहानी यहां दिखी, वह घर-घर की कहानी है, एक सामान्य सी बात।

कुछ दिन इस पर चर्चा होगी और एक कहानी पर बात आकर खत्म भी हो जाएगी। सभी अपने-अपने कार्यों में लग जाएंगे। यह कोई साधारण पारिवारिक व्यक्ति नहीं है। एक संत हैं, समाज सेवा में लीन एक व्यक्ति है, राजनैतिक हैसियत रखने वाला व्यक्ति जिसे राज्यमंत्री जैसे पद से सुशोभित करने की बात थी, उसकी मौत को क पारिवारिक कलह के नाम पर लाकर फाइल को बंद नहीं किया जा सकता। कई गंभीर प्रश्न खड़े होते हैं जिन्हें जानना जरूरी है।

1. कहीं ये हत्या तो नहीं है?
2. कहीं यह आत्महत्या के लिए प्रेरित हत्या तो नहीं?
3. एक बार मान भी ले कि पारिवारिक कलह से आत्महत्या हुई है तो समाज को सभी को समझना होगा कि हम किस दिशा में जा रहे हैं जहां एक संत से सुशोभित व्यक्ति आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाए? यह समाज में हो रहे बदलावों से उपजी समस्याओं को गंभीरता से बतलाता है।

यह भी पढ़ें :

video: इस महिला से एक दिन पहले मिलने रेस्टोरेंट गए थे भय्यूजी महाराज, हुई थी बहस

चंद घंटो बाद पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे भय्यू जी महाराज, बेटी देगी मुखाग्नि

संत भय्यू महाराज ने की आत्महत्या, अन्ना हजारे का अनशन तोडऩे पर आए थे सुर्खियों में

Sponsored






Related Article

No Related Article