page level


Friday, June 22nd, 2018 10:13 PM
Flash

यह ‘डॉग’ है सेलेब्रिटी, जीत चुका है गोल्ड मेडल




यह ‘डॉग’ है सेलेब्रिटी, जीत चुका है गोल्ड मेडलSocial



बॉलीवुड स्टार, क्रिकेट स्टार आदि कई सेलेब्रिटी से आप रूबरू हुए होंगे लेकिन आज हम आपको एक ऐसे सेलेब्रिटी के बारे में बताने वाले है जिसके चर्चे कई पुलिस विभाग में है। दरअसल हम बात कर रहे है चार साल के लैब्राडोर डॉग बाबू, की। आपको बता दें, दिल्ली पुलिस का यह कुत्ता नया स्टार बन चुका है। इसकी वजह है डॉग कॉम्पिटिशन के तहत ट्रैकिंग टेस्ट में पहला गोल्ड मेडल जीतना।

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में 61वीं ऑल इंडिया पुलिस ड्यूटी मीट आयोजित की गई थी। इस दौरान डॉग कॉम्पिटिशन में बाबू ने दिल्ली पुलिस की स्क्वॉड टीम को मेडल हासिल करवाया था। बाबू ने इस प्रतियोगिता में पिछले कई वर्षों के रैंक होल्डर्स को हराकर यह जीत हासिल की है। इस जीत के बाद से बाबू से मिलने कई लोग आते हैं और उसके हैंडलर को ढेरों बधाइयां भी देते हैं।

बाबू को पसंद है शो-ऑफ़

वहीं इस जीत पर हैंडलर पवन कुमार कहते हैं, ‘उसने पहली बार प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और हमें मेडल दिलाया। वह पिछले एक साल से अपना पूरा ध्यान ट्रेनिंग पर लगा रहा है। हमने उसे कॉम्पिटिशन की हर एक्टिविटी की प्रैक्टिस कराई जैसे खाने को इनकार करना और सूंघकर पहचान करना।’ उसके इसी एटिट्यूट के चलते हमने गोल्ड मेडल जीता है। बताया जाता है कि, बाबू को शो-ऑफ पसंद है, वह अटेंशन सीकर है। जब उसे पता हो कि सभी की नजरें उस पर है तब वह अपना बेस्ट देता है।

वैसे इस कॉम्पिटिशन में देशभर से पुलिस डॉग स्क्वॉड की 35 टीमें इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेती हैं जिसमें कई चरण होते हैं- आज्ञापालन टेस्ट, खाने को इनकार, हर्डल्स- 3 फीट की ऊंचाई वाले दो हर्डल से होकर गुजरना, देखना और ढूंढना, गंध की पहचान और शीशे पर चलना।

वहीं दिल्ली पुलिस के डीसीपी क्राइम (सीआरओ) रंजन भगत ने कहते है ‘मुझे लगता है कि इस बार मुख्य कारण मेडल जीतने पर पूरा ध्यान केंद्रित करना था। इस साल की ट्रेनिंग भी मेडल जीतने पर फोकस की गई थी।’ बाबू की खास बात यह है कि वह अपने हैंडलर की अनुमति के बिना कभी खाना नहीं खाता।

यह भी पढ़े:-

हरियाणा की बेटी ने जापान में रोशन किया नाम, जीता सिल्वर मेडल

जानें कौन हैं भारत को 22 साल बाद गोल्ड मेडल दिलाने वाली मीराबाई चानू

स्पेशल ओलंपिक : 73 मेडल जीतने का रिकॉर्ड भारत के नाम

भारत की बेटी ने जीता गोल्ड मेडल, ऑस्ट्रेलिया में रोशन किया भारत का नाम

Sponsored