page level


Thursday, December 14th, 2017 06:35 PM
Flash




डिलीवरी के लिए डॉक्टर्स ने अपनाई थ्री इडियट्स पॉलिसी, महिला ने खो दिया बच्चा




डिलीवरी के लिए डॉक्टर्स ने अपनाई थ्री इडियट्स पॉलिसी, महिला ने खो दिया बच्चाHealth & Food

Sponsored




आपने थ्री इडियट्स में आमिर खान द्वारा फोन पर की गई डिलीवरी का सीन जरूर देखा होगा। ऐसे में हर कोई सोचता है कि जो रील लाइफ में है काश रीयल में भी हो जाए तो कितना मुसीबत के समय सफल हल निकल जाए। यानि फोन पर डिलीवरी। लेकिन असल में रील और रीयल लाइफ में बहुत अंतर होता है। जो रील पर दिखता है वो सब रीयल लाइफ में सच हो, ये जरूरी नहीं। थ्री इडियट्स की इस पॉलिसी ने एक महिला को अपना बच्चा खोने के लिए मजबूर कर दिया। दरअसल, मामला उड़ीसा का है। जहां आरती समल नाम की एक महिला ने अपने बच्चे को खो दिया क्योंकि उसके बच्चे को ऑपरेट करने वाला डॉक्टर ऑपरेशन थियेटर में नहीं बल्कि फोन पर निर्देशों द्वारा ऑपरेशन करने की कोशिश कर रहा था। ये मामला उड़ीसा के साईं हॉस्पीटल का है।

जहां फोन पर डिलवरी करने के लिए संपर्क साधने का ये तरीका थ्री इडियट्स में सफल हो गया था, वहीं असल जिन्दगी में डॉक्टरों द्वारा अपनाया गया ये तरीका पूरी तरह फेल हो गया है। रिपोट्र्स की मानें तो डॉ.रश्मिकांत पात्रा उस समय हॉस्पीटल में नहीं थे और वहां मौजूद नर्सों ने सिजेरियन ऑपरेशन करने का फैसला लिया, जो बुरी तरह से फेल साबित हुआ, क्योंकि इससे न केवल गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हुई बल्कि महिला के भी अंदरूनी अंगों को भी नुकसान हुआ है।

महिला के पति कलपत्रू समल ने कहा है कि – जब हमने डॉ.रश्मिकांत पात्रा से बात की तो उन्होंने बताया था कि वे शहर में नहीं हैं, लेकिन वे लगातार अपने नर्स स्टाफ के कॉन्टेक्ट में रहेंगे। नर्सें मेरी पत्नी को ठीक से ऑपरेट नहीं कर पाईं और हमने अपना बच्चा खो दिया। इतना ही नहीं मेरी पत्नी को अंदरूनी चोटें भी आई हैं, जिससे मेरी पत्नी का यूटरस भी डैमेज हुआ है।

वहीं इस ऑपरेशन में मौजूद नर्सों का कहना है कि उन्होंने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की थी। हालांकि अब समल ने डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है और पुलिस की तरफ से लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया गया है।

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें