page level


Thursday, August 16th, 2018 05:53 AM
Flash

24 माह बाद तुकी में “आपातकाल” पर लगा विराम, इन देशों में भी लग चुका है “आपातकाल”




24 माह बाद तुकी में “आपातकाल” पर लगा विराम, इन देशों में भी लग चुका है “आपातकाल”



तुर्की के लिए आज का दिन यादगार बन गया है। यहां दो साल के लंबे इंतजार के बाद आपातकाल खत्म हो गया है। तख्ता पलट करने की कोशिश में करीब 80 हजार आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया था। लेकिन अब विपक्ष को इसे और दमकारी बनाने का डर सता रहा है।

बता दें कि दो साल पहले 20 जुलाई 2016 को राष्ट्रपति रेचेप तययप एर्दोवान ने आपातकाल लगाने का ऐलान किया था। जिसके पांच दिन बाद ही लड़ाकू जहाजों ने अंकारा पर बमक गिराने शुरू कर दिए थे और इंस्ताबुल में खूनी खेल शुरू हो गया था। इस हमले में करीब 249 लोग मारे गए थे। वहीं करीब 80 हजार लोगों को हिरासत में ले लिया गया था। इसके साथ ही दोगुना लोगों को अपनी नौकरी भी गंवानी पड़ी थी।

तुर्की के इतिहास में इस सबसे बड़े अभियान में फतेहउल्लाह के समर्थकों के साथ कुर्द और वामपंथियों को भी निशाना बनाया गया था। पीडीपी के पूर्व नेता फिगन युकसेदग को भी गिरफ्तार किया गया था, जो अभी भी जेल में है। पिछले महीने राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान एर्दोवदन ने वादा किया था कि जीत हासिल होने के बाद आपातकाल खत्म कर दिया जाएगा। यह गरूवार को दोपहर 1 बजे होगा। हालांकि विपक्ष दल इस नए कानून से खफा नजर आ रहा है। इस नए कानून में अहापातकाल के कुछ प्रावधानों को जगह दी गई है।

तीन माह नहीं तीन साल के लिए लगेगा आपातकाल…

नए कानून के अनुसार सरकार जो उपाय बताने जा रही है, उसे देखते हुए तीन महीने की जगह अब तीन साल के लिए आपातकाल लगेगा। नए कानून में ये प्रावधान रखा गया है कि अधिकारी चाहें तो अगले तीन साल तक ऐसे कर्मचारियों को नौकरी से हटा सकते हैं, जो आतंकवादियों के संपर्क में है। अधिकारियों को ऐसा करने का पूरा अधिकार होगा। किसी संदिग्ध को भी 48 घंटे से 4 दिन तक हिरासत में रखने का प्रावधान लागू होगा। बस शर्त है कि संदिग्ध ने कुछ गलत किया हो।

इन देशों में भी लग चुकी है इमरजेंसी-

वेनेजुएला

वेनेजुएला में 15 जनवरी को 60 दिनों के लिए आपातकाल की घोषणा की गई। वेनेजुएला की सरकार ने मुश्किलों से घिरी देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए आपातकाल की घोषणा की थी।

परनामबुको

बीते साल 30 नवंबर को ब्राजील के उत्तर पूर्वी राज्य परनामबुको में जिका बुखार फैलने के कारण आपातकाल लगा दिया गया था।

मालदीव

बीते साल 3 नवंबर को मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्लाह यामीन ने एक सरकार विरोधी रैली से पहले 30 दिनों के आपातकाल की घोषणा की थी।

माली

बीते साल 20 नवंबर को माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बौबाकर केइटा ने राजधानी बमाको स्थित एक होटल में हुए आतंकवादी हमले के बाद 3 दिन के आपातकाल की घोषणा की थी।

ट्यूनीशिया

बीते साल 3 जुलाई को ट्यूनीशिया में हुए आइएसआइएस के आतंकवादी हमले के बाद वहां आपातकाल लागू किया गया था।

भारत में भी दो साल तक चला इमरजेंसी का दौर…

भारत भी इमरजेंी से अछूता नहीं रहा। भारत में इंदिरा गांधी के कार्यकाल में दो साल के लिए इमरजेंसी लगी थी। 26 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक 21 महीने की अवधि में भारत आपातकाल की स्थिति में रहा। तत्कालीन राष्ट्रपति फखरूद्दीन अहम ने इंदिरा गांधी के कहने पर भारतीय संविधान की धारा 352 के अधीन इमरजेंसी लागू की थी। स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह सबसे विवादास्पद और अलोकतांत्रिक काल था। आपातकाल में चुनाव स्थगित हो गए तथा नागरिक अधिकारों को समाप्त करके मनमानी की गई। इंदिरा गांधी के राजनीतिक विरोधियों को कैद कर लिया गया और प्रेस पर प्रतिबंधित कर दिया गया। प्रधानमंत्री के बेटे संजय गांधी  के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर पुरूष नसबंदी अभियान चलाया गया। जयप्रकाश नारायण ने इसे ‘भारतीय इतिहास की सर्वाधिक काली अवधि’ कहा था।

यह भी पढ़ें

आज़ादी के महज़ 28 साल बाद ही इंदिरा ने देश को जकड़ दिया था आपातकाल की बेड़ियों से

इंदु सरकार : आपातकाल की घटनाओं से रूबरू कराती है फिल्म

पाक ने शुरू की सीमा पर फायरिंग, PM मोदी ने शुरू की आपातकालीन बैठक

Sponsored






You may also like

No Related News