page level


Wednesday, December 13th, 2017 07:14 PM
Flash




पापा आप आगे चलो… मैं आती हूं, ये आखिरी शब्द कहकर इस दुनिया से चली गई बेटी




पापा आप आगे चलो… मैं आती हूं, ये आखिरी शब्द कहकर इस दुनिया से चली गई बेटीSocial

Sponsored




बीते दिन मुंबई के एल्फिस्टन स्टेशन के पास मची भगदड़ ने करीब 22 लोगों की जान ले ली। इस घटना में करीब 30 से अधिक लोगों घायल भी हुए हैं। इस हादसे में एक बेटी ने भी अपनी जान गंवा दी है और अब उसके पिता उसके आखिरी शब्दों को बार-बार याद कर बस रो रहे हैं। पिता किशोर ने बताया कि- हादसे के वक्त वे अपनी 25 साल की बेटी श्रद्धा के साथ ब्रिज पर थे। किशोर ने बताया कि जब ब्रिज पर भीड़ ज्यादा थी, तब बेटी श्रद्धा ने पिता से कहा की “पापा आप आगे जाओ, मैं भीड़ कम होने के बाद आती हूं”। 57 साल के पिता किशोर वर्पे ब्रिज पार कर गए, लेकिन उनकी बेटी पीछे ही छूट गई। बाद में उन्हें अपनी बेटी तो नहीं मिली, लेकिन उसकी मौत की खबर ने उन्हें सदमे में डाल दिया।

बता दें कि श्रद्धा और उनके पिता एल्फिंस्टन रोड पर मौजूद लेबर वेलफेयर बोर्ड में काम करते थे। ठाणे जिले के विठ्ठलवाणी स्थित अपने घर से दोनों साथ में ही निकले थे। दोनों परेल स्टेशन सुबह 10:15 पर पहुंचे और फुटओवर पर चल दिए। लेकिन वे हर रोज यहां से गुजरते थे, जहां भीड़ होना आम बात है। किशोर ने बताया कि बारिश के चलते ब्रिज पर पहले से ज्यादा भीड़ इकट्ठा हो गई। किशोर भीड़ से धक्का खाते हुए आगे निकल गए, तब बेटी ने कहा कि पापा आप आगे चलो, मैं भीड़ छंटने के बाद आती हूं।

ये आखिरी शब्द कहकर श्रद्धा ने पिता को तो आगे भेज दिया, लेकिन खुद भीड़ छंटने का इंतजार करने लगी। उसे क्या पता था कि वे अपने पिता की जान बचाकर खुद इस दुनिया को अलविदा कहने वाली है। ब्रिज पार कर जब किशोर ने बेटी के मोबाइल पर फोन लगाया तो कोई रिप्लाई नहीं मिला। दस मिनट बाद उसके मौत की खबर मिली। किशोर शवग्रह के वेटिंग रूम के कोने में बैठकर बेटी के इन्हीं आखिरी बातों को याद कर रो रहे थे।

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें