page level


Tuesday, August 14th, 2018 12:50 PM
Flash

France के नाम रहा विश्व कप का खिताब, जीतते ही कमा लिए इतने करोड़….




France के नाम रहा विश्व कप का खिताब, जीतते ही कमा लिए इतने करोड़….Sports



रूस में खेले गए फीफा विश्व कप 2018 के 21वें संस्करण में फाइनल का खिताब फ्रांस के नाम रहा। रविवार को मॉस्को के लुजिन्हिकी स्टेडियम में खेले गए इस महामुकाबले में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से रौंदते हुए फीफा विश्व कप में तगड़ी जीत हासिल की। यह फ्रांस का दूसरा विश्व कप है। इससे पहले 1998 में ब्राजील को हराकर यूरोप की ये महाशक्ति फुटबॉल का सरताज बनी थी। इस साल एक बार फिर दुनिया को फुटबॉल का अपना नया विजेता मिल गया है।

फ्रांस छठा देश है, जिसने एक से अधिक बार विश्व कप का खिताब जीता। इससे पहले ब्राजील (5), जर्मनी (4), इटली (4), अर्जेंटीना (2) और उरुग्वे (2) यह कमाल कर चुके हैं। इस मैच का पहला गोल 18वें मिनट में फ्रांस के खाते में आया। यह एक आत्मघाती गोल था, जो क्रोएशिया के मारियो मैंडजुकिच के हेडर से आया। ठीक 10 मिनट बाद क्रोएशिया ने मैच में उस वक्त वापसी की, जब 28वें मिनट में इवान पेरिसिच ने जबरदस्त गोल दागा।

जीतते ही कमा लिए करोड़..

आपको जानकर हैरत होगी कि विश्व कप का विजेता बनने के बाद फ्रांस मामामाल हो गया है। फाइनल में जीतने वाली फ्रांस को 38 मिलियन डॉलर की राशि मिली है। यानि 260 करोड़ रूपए। दूसरे नंबर पर रहने वाली टीम को 191 करोड़ रूपए की ईनामी राशि दी गई है। तीसरे नंबर पर बेल्जियम को  को फीफा में 24 मिलियन डॉलर यानी करीब 164 करोड़ रुपये इनाम स्वरूप हाथ आए। बता दें कि 2014 के फीफा विश्व कप विजेता टीम जर्मनी को 239 करोड़ रुपये मिले थे।

यही नहीं, चौथे स्थान पर आने वाली टीम इंग्लैंड को 2.2 करोड़ डॉलर (148 करोड़ रुपए) मिले। इसके अलावा क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाली टीम को 1.6 करोड़ डॉलर तथा प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली टीमों को 1.2 करोड़ डॉलर मिले। ग्रुप चरण से बाहर होने वाली 16 टीमों को 80-80 लाख डॉलर (54 करोड़ रुपये) की इनामी राशि प्रदान की जाएगी।
केन ने टूर्नामेंट के छह मैचों में छह गोल किए। केन 32 वर्षों में इंग्लैंड के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने गोल्डन बूट का पुरस्कार जीता है। इससे पहले इंग्लैंड के गेरी लिनेकर ने 1986 में छह गोल के साथ गोल्डन बूट अवार्ड जीता था। बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू चार गोल के साथ दूसरे, मेजबान रूस के डेनिस चेरिशेव पांच मैचों में चार गोल के साथ तीसरे और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो चार मैचों में चार गोल के साथ चौथे नंबर पर रहे। विजेता फ्रांस के एंटोनियो ग्रीजमैन ने सात मैचों में चार गोल किए।
जानिए किसे मिला कौन सा पुरस्कार

फ्रांस के फारवर्ड 19 वर्ष के कीलियन एम्बाप्पे अपना पहला विश्व कप खेल रहे थे और उन्होंने सात मैचों में चार गोल किए। इस वजह से वह टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी चुने गए।

बेल्जियम के गोलकीपर थिबाउट कुर्टियोस को शानदार गोलकीपिंग के लिए गोल्डन ग्लव्स का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने इस विश्व कप में सबसे ज्यादा 27 बचाव किए जिसके कारण वह इस पुरस्कार के हकदार बने। बेल्जियम की टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी। उसने इंग्लैंड को मात देकर तीसरा स्थान हासिल किया।

मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मिडफील्डर माने जाने वाले क्रोएशिया के लुका मोड्रिक को गोल्डन बॉल का पुरस्कार प्रदान किया गया। मोड्रिक ने टूर्नामेंट के सात मैचों में तीन गोल किए। इस मौके पर राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन, फीफा के अध्यक्ष गियानी इंफैटिनो और क्रोएशिया की राष्ट्रपति कोलिंदा ग्रैबर उपस्थित रहीं।

यह भी पढ़ें

FIFA में मैच की भविष्यवाणी करने वाले बिल्ले की मौत , इस ट्रिक से बताता था “भविष्य”

IFA World Cup 2018: जर्मनी ने 2-1 से स्वीडन को दी मात

12 साल बाद फ्रांस ने की फाइनल में एंट्री, बेल्जियम को तीसरी बार दी मात…

जापान विश्व कप से बाहर, बेल्जियम ने की QF में एंट्री…

 

Sponsored