Friday, November 24th, 2017 06:45 PM
Flash




सामने आ गया डांसर हर्षिता का आरोपी, खुद कुबूल किया गुनाह




सामने आ गया डांसर हर्षिता का आरोपी, खुद कुबूल किया गुनाहSocial

Sponsored




कुछ दिन पहले हरियाणा की मशहूर डांसर और सिंगर हर्षिता दहिया की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मर्डर से पहले से उन्हें जान से मारने की धमकी भी जा रही थीं, ये बात हर्षिता ने एक दिन पहले अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिए शेयर की थी। पुलिस जांच में उनके मर्डर को लेकर कई नए खुलासे हो रहे हैं।

 

# बहन ने पति पर लगाया आरोप

हर्षिता की बहन लता

शाम को अपनी बहन का शव लेने पहुंची हर्षिता की बहन लता ने अपने पति दिनेश पर हत्या का आरोप लगाया था, तब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन अब चार दिन तक पुलिस रिमांड में रहने पर हर्षिता के जीजा दिनेश ने खुद अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। उसने ये मान लिया है कि हर्षिता का मर्डर उसने ही करवाया है। इसके लिए उसने जेल में बैठकर ही सारी प्लानिंग की थी। उसने कुछ गुंडे बुलवाकर हर्षिता का मर्डर करवाया। उसका कहना है कि हर्षिता की वजह से ही उस पर उसकी मां की हत्या का आरोप और हर्षिता के साथ साथ रेप करने का आरोप लगाया गया। बता दें कि हर्षिता अपनी मां की हत्या की आंखों देखी गवाह थी।

 

# दिनेश ने मां प्रेमो का भी किया मर्डर

हर्षिता की बहन लता ने बताया कि 6 साल पहले उनके पिताजी को हार्टअटैक आया था। इसलिए हर्षिता उनके यहां दिल्ली के पास कराला गांव में हमारे पास रहने आ गई थी। यहां उनके पति दिनेश ने हर्षिता से रेप करने की कोशिश की, तो मां प्रेमो ने उनके खिलाफ केस दर्ज करा दिया। बताया जा रहा है कि दबाव बनाने के बाद भी प्रेमो ने समझौता नहीं किया तो 2014 में दिनेश ने अपनी सास और हर्षिता की मां प्रेमो की भी हत्या कर दी थी। हर्षिता मां की हत्या की चश्मदीद गवाह थी।

 

# गवाह न देने के लिए बनाया था दबाव

इसराना थाना एसएचओ नवीन संधु हर्षिता पर दबाव बना रहा था। लेकिन वह नहीं मानी। इसलिए उसने कुछ आदमियों के साथ प्लानिंग कर उसकी हत्या बीच रास्ते में ही करा दी। यनि हर्षिता का गवाह बनना उनकी मौत का कारण बन गया। बता दें कि दिनेश दिल्ली का नामी हत्यारा है। उस पर हर्षिता और उसकी मां की हत्या के अलावा छह अन्य केस दर्ज हैं। पुलिस ने उस पर 25 हजार का ईनाम भी रखा था। हालांकि अब तक दिनेश को किसी भी केस में सजा नहीं हुआ है, वह झज्जर जेल में बंद है।

Sponsored






Follow Us

Yop Polls

नोटबंदी का एक वर्ष क्या निकला इसका निष्कर्ष

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories