page level


Thursday, July 19th, 2018 08:55 PM
Flash

IFFI : फेस्टिवल से हटाई ‘एस दुर्गा’ और ‘न्यूड’ फिल्म




IFFI : फेस्टिवल से हटाई ‘एस दुर्गा’ और ‘न्यूड’ फिल्मEntertainment



गोवा में इस महीने 20 से 28 नवंबर को 48वां अंतराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव शुरू होने जा रहा है। ये फिल्म फेस्टिवल भारत की तमाम अच्छी मूवियों को प्रदर्शित करेगा लेकिन ये हाल ही में विवादों में आ गया है क्योंकि इसमें कुछ फिल्में प्रदर्शित करने से मना कर दिया गया है जिसके बाद से इन फिल्म के मेकर्स नाराज हैं। आइए आपको बताते हैं कौन सी हैं वो फिल्में..

इस फिल्म फेस्टिवल से जो फिल्में हटाई गई हैं वो ‘एस दुर्गा’ और ‘न्यूड’ हैं। ये फिल्में पेनोरमा श्रेणी में दिखाई जानी थी. ‘एस दुर्गा’ के निर्देशक सनल कुमार शशिधरन और ‘न्यूड’ के निर्देशक रवि जाधव ने कहा कि इस फैसले से वे हैरान और हताश हैं।

मेकर्स हैरान हैं

जूरी के एक सदस्य ने मंत्रालय के फैसले पर हैरानी जताते हुए कहा, ‘जूरी के सुझाव अंतिम होते हैं और उनके साथ परामर्श के बगैर इन्हें बदला नहीं जा सकता. लेकिन मंत्रालय एक कदम आगे बढ़ गया और अपने स्तर पर ही दो फिल्मों को महोत्सव से हटा दिया.’

न्यूड से होना थी फेस्टिवल की शुरूआत

मेकर्स ने बताया कि इस फेस्टिवल की शुरूआत फिल्म ‘न्यूड’ से होना थी। इसे पहले सुजॉय घोष की अध्यक्षता वाली पेनोरॉमा की 13 सदस्यीय समिती ने प्रदर्शन का सुझाव भी दिया था। लेकिन अब इसे हटाना एक हैरानी वाली बात है। जिस पर मेकर्स भी हैरान हैं।

कई फेस्टिवल में पाए पुरस्कार

उन्होंने ‘न्यूड’ को नारीवाद पर आधारित एक मजबूत फिल्म बताया जबकि ‘एस दुर्गा’ को महिलाओं की सुरक्षा का संदेश देने वाली फिल्म बताया. मलयाली फिल्म का असली नाम ‘सेक्सी दुर्गा’ है और इसने अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में कई पुरस्कार जीते हैं।

अदालत में जाने का है विचार

शशिधरन ने बताया कि उन्हें मंत्रालय से इस बाबत कोई पत्र नहीं मिला है कि ‘एस दुर्गा’ को महोत्सव में जगह क्यों नहीं दी जा रही. उन्होंने कहा कि वे अदालत जाने के बारे में विचार कर रहे हैं। जाधव ने बताया कि यह जानने के लिए कि उनकी फिल्म को महोत्सव में शामिल क्यों नहीं किया गया, उन्होंने मंत्रालय को पत्र लिखा है। अब महोत्सव की शुरुआत विनोद कापड़ी की हिंदी फिल्म ‘पीहू’ के साथ होगी।

 

Sponsored