page level


Wednesday, August 15th, 2018 07:31 PM
Flash

IIM रायपुर के विद्यार्थियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया




IIM रायपुर के विद्यार्थियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व कियाEducation & Career



आईआईएम रायपुर के विद्यार्थियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया वार्षिक भारत-चीन युवा विनिमय कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, 200 सदस्यीय भारतीय युवा प्रतिनिधिमंडल ने दोनों देशों के बीच लोगों लोगों के आदान-प्रदान को मजबूत करने के उद्देश्य से चीन का दौरा किया। छात्रों, शोधकर्ताओं, युवा लीडर्स और युवा विजेताओं के प्रतिनिधिमंडल नेबीजिंग, वुहान, कुनमिंग, शंघाई और गुआंगज़ौ सहित विभिन्न चीनी शहरों का दौरा किया।

आईआईएम रायपुर के छह विद्यार्थियों, सुश्री बंसरी भानुशाली, श्री चैतन्य द्विवेदी, सुश्री धनश्री नेमाडे, सुश्री मनाली चक्रवर्ती, सुश्री नवया उमाशंकर और श्री विनय जैन ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और सभी चीन युवा संघ के स्वयंसेवकों के साथ-साथ प्रमुख व्यवसायों के शीर्ष स्तरीय प्रबंधन कर्मियों के साथ बातचीत की। वर्तमान में विपणन, मानव संसाधन और संचालन जैसे क्षेत्र में प्रबंधन पाठ्यक्रमों करने वाले विद्यार्थियों ने इसे जीवन में एक बार मिलने वाले अनुभव के रूप में समझा।

प्रतिनिधिमंडल ने विद्यार्थियों को कंपनी के दौरे, पर्यटन, व्याख्यान इत्यादि के माध्यम से चीन की अर्थव्यवस्था, समाज और संस्कृति के विभिन्न पहलुओं का अनुभव करने का अवसर दिया और उद्योग, शिक्षा, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, शहरी नियोजन, कृषि और स्वास्थ्य सहित विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों और चिकित्सकों के साथ घनिष्ठ संपर्क की सहायता से चीन के बारे में जानकारी
प्रदान की।

आईआईएम रायपुर में छात्र मामलों की समिति के दूसरे वर्ष के छात्र और सदस्य श्री विनय जैन ने कहा, “यह युवा प्रतिनिधि कार्यक्रम एक अच्छा अनुभव और मेरे करियर की एक अहम उपलब्धि था।”

पिछले कुछ वर्षों में, भारत और चीन ने राजनीतिक, आर्थिक, कंसुलर के साथ-साथ क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों को शामिल करते हुए कई वार्ता तंत्र स्थापित किए हैं। लेकिन कम व्यक्तिगत आदान-प्रदान के कारण दोनों देशों के बीच गलत धारणाएं और पूर्वकल्पित विचार आम हैं।आईआईएम रायपुर के दूसरे साल की छात्रा सुश्री बंसरी भानुशाली ने कहा, “इस तरह के कार्यक्रम द्विपक्षीय संबंधों में अधिक सकारात्मक और सक्रिय वातावरण बनाते हैं।”

यह भी पढ़ें:

इंदौर में ‘ट्रैफिक रूल्स’ क्यों फॉलो नहीं कर रहा वाहन चालक, जानें

125 मतों से जीत गए “हरिवंश नारायण”, मिली “उपसभापति” की गद्दी

इंदौर की शिखा शर्मा ने रंगोली में दो देशों के 75 प्रतिभागियों में बाजी मारी

क्या आपके नाखूनों का भी बदल रहा है रंग, तो न करें नजरअंदाज

Sponsored