page level


Monday, September 24th, 2018 05:25 AM
Flash

IIT ने गर्ल स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व की सीटें, जानिए किस IIT में कितनी सीटें…




IIT ने गर्ल स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व की सीटें, जानिए किस IIT में कितनी सीटें…Education & Career



लड़कियां हर क्षेत्र में लड़कों के बराबर पहुंच रही हैं, बावजूद इसके तकनीकी शिक्षा में मौजूदगी बहुत कम है। यहां भी इनकी कमी को पूरी करने के लिए अब आईआईटी ने एक बड़ा कदम उठाया है। आईआईटी ने इस साल यहां गर्ल स्टूडेंट के लिए 779 सीटें रिजर्व की हैं। बता दें कि इस साल गर्ल स्टूडेंट्स के लिए आईआईटी में 10 प्रतिशत सीट से बढ़ाकर 14 प्रतिशत सीटें बढ़ाने की मांग की गई थी।

आईआईटी दिल्ली के चेयरमैन आदित्य मित्तल का कहना है कि बीटैक प्रोग्राम के घटते लैंगिंक अनुपात को बराबरी पर लाने के लिए आईआईटी ने ये कदम उठाया है। ऐसे में अब उम्मीद की जा रही है कि अब पिछले साल की तुलना में इस साल आईआईटी में गर्ल स्टूडेंट्स की संख्या में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने आगे बताया कि आईआईटी परिषद की 28 अप्रैल 2017 को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया था। परिषद ने 2018 में 14 प्रतिशत, 2019 में 19 प्रतिशत और 2020 में 20 प्रतिशत गर्ल स्टूडेंट के रजिस्ट्रेशन का लक्ष्य रखा है।

इस बार आईआईटी के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) एडवांस्ड का आयोजन 20 मई को किया जाएगा। कुल 779 सीटों में से सबसे अधिक सीटें (113) आईआईटी खड़गपुर में हैं, जबकि आईआईटी धनबाद में 95 सीटें, आईआईटी कानुपर में 79 सीटें, आईआईटी बीएचयू में 76 सीट, आईआईटी रूड़की में 68 सीट, आईआईटी दिल्ली में 59 सीट, आईआईटी मुंबई में 58 सीट, आईआईटी मद्रास में 31, आईआईटी पटना में 25, आईआईटी इंदौर में 15 और आईआईटी गुवाहाटी में 57 सीटें हैं।

एक आंकड़े के मुताबिक, 2013 में कुल 9718 नामांकन हुए, जिसमें गर्ल स्टूडेंट की संख्या 908 थी जो कि कुल नामांकन का सिर्फ 9.3% था।

 2014 में कुल 9732 नामांकन हुए, जिसमें गर्ल स्टूडेंट की संख्या 861 थी जो कि कुल नामांकन का सिर्फ 8.8% था।

 2016 में कुल 10500 नामांकन हुए, जिसमें गर्ल स्टूडेंट की संख्या 848 थी जो कि कुल नामांकन का सिर्फ 8.07% था।

 2017 में कुल 10987 नामांकन हुए, जिसमें गर्ल स्टूडेंट की संख्या 1006 थी जो कि कुल नामांकन का सिर्फ 9.1% था।

देश में आईआईटी के साथ ही अन्य इंजिनियरिंग इंस्टिट्यूट में भी गर्ल स्टूडेंट की संख्या काफी कम है। अब देखना यह है कि ये आरक्षित सीटें गर्ल स्टूडेंट के नामांकन में कितनी बढ़ोतरी करती है। 

यह भी पढ़ें

IIT का ये छात्र बना Twitter का CTO, इससे पहले याहू में कर चुके हैं काम

JEE टॉपर्स की पहली पसंद है IIT मुंबई

अगले साल से IIT-JEE एंट्रेंस टेस्ट होगा ऑनलाइन

दिल्ली के प्रोफेसर कराएंगे हिंदी में IIT- JEE की तैयारी

Sponsored