page level


Monday, February 19th, 2018 03:33 PM
Flash

जानिए क्यों होते है अलग अलग रंग के पासपोर्ट




जानिए क्यों होते है अलग अलग रंग के पासपोर्टTravel




पासपोर्ट का उपयोग तब करते है जब देश से बाहर जाते है। पासपोर्ट का उपयोग आइडेंटिटी के लिए तो करते ही है लेकिन उससे पहले एक और चीज होती है और वो है पासपोर्ट कलर। जी हां पासपोर्ट का रंग। जो आपकी इच्छा के अनुसार तय नहीं होता बल्कि वह कुछ ओर कारणों से पासपोर्ट रंग तय होता है। जो अलग – अलग देशों को दर्शाता है। दुनियाभर के देशों के पासपोर्ट 4 रंग के होते है जो आप शायद ही जानते होंगे। उनके रंग है- रेड, ग्रीन, ब्लू और ब्लैक। आज आपको इन पासपोर्ट के अलग – अलग रंग को लेकर महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे है –

लाल रंग का पासपोर्ट

यह रंग का पासपोर्ट सबसे ज्यादा सामान्य होता है। इस रंग का पासपोर्ट ज्यादातर सोल्वेनिया, चीन, रूस, सर्बिया, लात्विया, रोमानिया, पोलैंड और जॉर्जिया के सिटीजन के पास लाल रंग का पासपोर्ट होता है। इसी के साथ में यूरोपीय यूनियन के सदस्य देशों के पासपोर्ट में भी रेड कलर का शेड होता है। यूरोपीय यूनियन में शामिल कुछ देश मखदूनिया, तुर्की, अल्बानिया ने लाल रंग का पासपोर्ट अपनाया है। इसके बाद में बोलिविया, कोलंबिया, पेरू और अक्वॉडर के पास पोर्ट का रंग भी लाल होता है। साथ ही इस रंग पासपोर्ट भारत में टॉप रैंकिंग गर्वनमेंट ऑफिशियल्स को दिए जाते है।

नीले रंग का पासपोर्ट

इस रंग का पासपोर्ट भारतीय नागरिक को कुछ समय के लिए ट्रेवलिंग और बिजनेस ट्रीप के अनुसार दिया जाता है। साथ ही यह पासपोर्ट 15 कैरिबियाई देशों के पासपोर्ट का रंग नीला होता है। दक्षिणी अमेरिकी देशों के पासपोर्ट का रंग मरकॉस्ुर नाम के ट्रेड यूनियन के साथ उनके संबंध को दर्शाता है। इसके अंदर ब्राजील, पेरूग्वे और अर्जेंटिना शामिल है। 1976 में अमेरिका ने भी अपने पासपोर्ट का नीला रंग अपना लिया था।

ब्लैक रंग का पासपोर्ट

इस रंग का पासपोर्ट बहुत कम देशों का होता है। इसमें कुछ अफ्रीकी देश शामिल हैं जैस जांबिया, बुरूंडी, गैबन, अंगोला, कॉन्गो, मालवी, बोत्सवाना शामिल हैं। न्यूजीलैंड के नागरिकों के पास में काला रंग का पासपोर्ट है, क्योंकि काला रंग वहां का राष्ट्रीय रंग है।

ग्रीन कलर का पासपोर्ट

इस रंग का पासपोर्ट भी बहुत कम देखने को मिलता है। इस रंग का पासपोर्ट ज्यादातर मुस्लिम देशों जैसे मोरक्को, पाकिस्तान, सऊदी अरब के हरे रंग का पासपोर्ट है। मुस्लिम धर्म में हरे रंग को पैगंबर मुहम्मद का पसंदीदा रंग माना जाता है और यह प्राकृतिक एवं जीवन का प्रतीक है। इसी के साथ में यह पश्चिमी अफ्रीकी देशों जैसे बुर्किना नाइजीरिया, आइवर कोस्ट, नाइजर, फासो और सिनेगल के पासपोर्ट का रंग हरा होता है। लेकिन इन देशों में हरा रंग होना अलग बात है। इन देशों के संदर्भ में हरा रंग इकोवास (इकॉनॉमिक कम्यूनिटी ऑफ वेस्ट अफ्रिकन स्टेट्स) से उनके संबंध को दर्शाता है।

यह भी पढ़ें

Video: सीएम शिवराज सिंह को आया गुस्सा, सरेआम जड़ा थप्पड़

आधार के सत्यापन में आती है फिंगरप्रिंट की समस्या तो सरकार ला रही है नया फीचर

ब्रिक्स देशों को पछाड़ कर इस नंबर पर पहुंचा भारत, दुनिया में 5वां सबसे बड़ा मैन्युफैक्चुरिंग देश

प्लेन में घूमने का सपना होगा सच, सिर्फ 99 रूपए में करें भारत के 7 शहरों की यात्रा

Sponsored