page level


Friday, May 25th, 2018 10:23 PM
Flash

इजराइल की इस ख़ास ताकत से डरती है पूरी दुनिया




इजराइल की इस ख़ास ताकत से डरती है पूरी दुनियाWorld



इजराइल को दुनिया का सबसे सुरक्षित देश माना जाता है। साथ ही यह सबसे ताकतवर देश में भी गिना जाता है। इसकी ताकत का अंदाजा लगाना मुश्किल होता है। यहां कि सेना तो ताकतवर मानी जाती है लेकिन यहां एक खुफिया एजेंसी है मोसाद जिसे इजराईल की सबसे ताकतवर एजेंसी मानी जाती है। यह 13 दिसंबर, 1949 को स्थापित की गई थी। इस एजेंसी को एक ओर दूसरे नाम से भी जाना जाता है वो है किलिंग मशीन। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह दुनिया में छुपे दुश्मनों को ढूंढ – ढूंढ कर निकाल कर मारती है।

आतंकी भी पंगा लेने से डरते

इस खुफिया एजेंसी में महिलाएं है जो दुनियाभर में फैली हुई है। इतना ही नहीं यह महिलाएं अपने दुश्मनों के मुंह से राज उगलवाने में माहिर है। इसी वजह से उन्हें मोसाद एजेंसी की ताकत माना जाता है। इसका उदाहरण 1972 का है जब आतंकियों ने इजराइल के नौ खिलाड़ियों को मार दिया था, जिसके बाद से इसमें शामिल हर एक शख्स को ढूंढ – ढूंढ कर मार गिराया था।

इसके बाद 1976 में युगांडा ने इजरायल के 54 नागरिकों बंधक बना लिया था उस वक्त यह कहा जा रहा था कि युगांडा आतंकियों के साथ मिल गया था। लेकिन उन मोसाद ने फिर भी 54 ही लोगों को मौत के मुंह से निकाला लिया था।

हाईटेक अर्थव्यवस्था, प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न नहीं

इजराइल उन देशों में से है जहां कि अर्थव्यवस्था हाईटैक जरूर है लेकिन प्राकृतिक संसाधनों की कमी है। इसके बावजूद यह देश विज्ञान और तकनीक के मामले में इजरायल सर्वश्रेष्ठ में गिना जाता है। ऐजुकेशन और रोजगार के मामले में भी यह देश गिनतियों में गिना जाता है। स्टार्टअप के मामले में यह देश अमेरिका के बाद में दूसरे नंबर पर है। हाल ही में गल्प इंटरनेशनल एसोसिएशन ने अक्टूबर – दिसंबर, 2017 के जारी सर्वे में नेतन्याहू ग्लोबल लीडर्स के तौर पर 8 वें पायदान पर रहे। 14 जनवरी, 2018 को वह 4 दिवसीय यात्रा पर भारत आए हैं।

यह भी पढ़ें

जानिए कैसे तैयार होता है देश का आम बजट, “हलवे” की रस्म भी होती है खास

दिल्ली: इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ वामपंथी पार्टियों ने इंडिया गेट के पास प्रदर्शन किया

जर्मनी में फंसा पीएम मोदी के गुरू का बेटा, ईरान ने किया वीजा देने से इंकार

दलित पोस्ट मास्टर की बेटी से चार बार मुख्यमंत्री बनने का सफर

Sponsored