page level


Wednesday, December 13th, 2017 11:49 PM
Flash




सबसे ज्यादा तनाव में हैं मुंबईवासी: सर्वे




सबसे ज्यादा तनाव में हैं मुंबईवासी: सर्वेHealth & Food

Sponsored




 

भारत दुनिया की सबसे ज्यादा डिप्रेशन कंट्री है। ये उन दस देशों में शामिल है, जिन्हें दुनिया के सबसे डिप्रेस्ड कंट्री का दर्जा हासिल है। ये तो हुई दुनिया की बात , लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे देश में ऐसा कौन सा शहर है जहां डिप्रेशन सबसे ज्यादा पाया गया है। हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक भारत का मुुंबई शहर सबसे ज्यादा डिप्रेशन वाला शहर है। रिपोर्ट के अनुसार यहां 31 फीसदी कामकाजी लोग तनाव से ग्रस्त हैं। वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे पर ये सर्वे की ये रिपोर्ट जारी की गई है। एक ऑनलाइन डॉक्टर परामर्श मंच, लीब्रेट द्वारा ये सर्वे कराया गया है, जिसमें ये पता चला है कि फस्र्ट क्लास के शहरों में लगभग 60 फीसदी कामकाजी लोग डिप्रेशन में रहते हैं। यह सर्वे 10 अक्टूबर 2016 से एक साल तक किया गया। जिसमें लीब्रेट ने डॉक्टर्स के साथ मिलकर करीब 1 लाख एम्प्लॉयीज से बात की।

ये चिंताएं डिप्रेशन की बड़ी वजह-

सर्वे में लोगों से डिप्रेशन की खास वजहों के बारे में पूछा गया। जिसमें सामने आया कि काम पूरा करने की टाइम लिमिट, समय पर काम पूरा न कर पाना, प्रेश र में काम पूरा करना, ऑफिस की पॉलिटिक्स, ओवरटाइम करना जैसी मुख्य समस्याएं उनके डिप्रेशन का कारण हैं। लीब्रेट के सीईओ और संस्थापक सौरभ अरोड़ा ने कहा है कि लोग तनाव को लेकर अपने किसी करीबी से बात करने में असहज महसूस करते हैं, लेकिन ये उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। लोगों को इस बात का पता होना चाहिए कि तनाव का क्या कारण है, आपको कौन सी चीज परेशान कर रही है। ताकि समस्या का हल निकाला जा सके।

मार्केटिंग के क्षेत्र के कर्मचारियों में सबसे ज्यादा तनाव-

यूं तो तनाव हर जॉब में है, लेकिन सर्वे के दौरान जो खास क्षेत्र सामने आए हैं, उनमें मार्केटिंग के कर्मचारियों की स्थिति काफी गंभीर देखी गई है। रिपोर्ट के अनुसार मार्केटिंग की फील्ड में काम कर रहे 24 फीसदी एम्प्लॉयीज तनाव के शिकार हैं। इसके बाद पब्लिक रिलेशन 22 फीसदी, बीपीओ 17 फीसदी, ट्रेवल और टूरिज्म 9 फीसदी, एडवरटाइजमेंट और मैनेजमेंट के क्षेत्र में काम करने वाले 8 फीसदी कर्मचारियों को तनाव की शिकायत है।

7

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें