page level


Monday, July 23rd, 2018 12:13 AM
Flash

भ्रष्टाचार के मामले में नवाज़ शरीफ को 10 और बेटी मरियम को 7 साल की सजा




भ्रष्टाचार के मामले में नवाज़ शरीफ को 10 और बेटी मरियम को 7 साल की सजाPoliticsWorld



पाकिस्तान की भ्रष्टाचार विरोधी अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ और उनकी बेटी मरियम नवाज़ को भ्रष्टाचार को दोषी माना है।अदालत ने नवाज़ शरीफ़ को दस साल, मरियम नवाज़ को सात साल की सज़ा सुनाई है।अदालत ने मरियम नवाज़ पर बीस लाख पाउंड (लगभग पौने दो करोड़ भारतीय रुपए) का जुर्माना भी लगाया है।

अदालत के फ़ैसले के बाद देशभर में नवाज़ शरीफ़ की पार्टी मुस्लिम लीग (नवाज़) के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किए हैं।सज़ा के ऐलान के बाद मरियम नवाज़ चुनाव लड़ने के लिए भी अयोग्य हो गई हैं। पाकिस्तान में 25 जुलाई को चुनाव होने हैं। मरियम नवाज़ लाहौर की सीट एनए 127 से चुनाव लड़ रहीं थीं।अदालत ने मरियम नवाज़ के पति कैप्टन सफ़दर को भी एक साल की सज़ा सुनाई है।

अदालत ने एवेनफ़ील्ड अपार्टमेंट को ज़ब्त करने का आदेश भी दिया है।नेशनल अकाउंटेबिलीटी बोर्ड (पाकिस्तान का लोकायुक्त कार्यालय) के अभियोजक सरदार मुज़फ़्फ़र ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि अदालत ने अपने फ़ैसले में केंद्रीय सरकार से कहा है कि एवेनफ़ील्ड को ज़ब्त कर ले।एवेनफ़ील्ड अपार्टमेंट लंदन में नवाज़ परिवार की संपत्ति में शामिल मानी जाती हैं, इसे लेकर ही भ्रष्टाचार का ये मुक़दमा चल रहा था।

इससे पहले अदालत ने तीन जुलाई 2018 को मुक़दमे की सुनवाई पूरी करके फ़ैसला सुरक्षित कर लिया था।इस्लामाबाद की भ्रष्टाचार विरोधी अदालत के जज महमूद बशीर ने साढ़े नौ महीने तक इस मुक़दमे की सुनवाई की।इस मुक़दमे में नवाज़ शरीफ़, उनकी बेटी मरियम नवाज़, हसन नवाज़, हुसैन नवाज़ और कैप्टन सफ़दर अभियुक्त हैं।अदालत हसन नवाज़ और हुसैन नवाज़ को पहले ही भगोड़ा क़रार दे चुकी है।

नवाज़ शरीफ़ ने इस केस का फ़ैसला सात दिनों तक टालने की याचिका दायर की थी जिसमें कहा गया है कि पत्नी की बीमारी की वजह से वो तुरंत देश वापस नहीं लौट सकते हैं। नवाज़ शरीफ़ इस समय लंदन में हैं।

नवाज़ शरीफ़ को पहले भी अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों की ओर से अदालती कार्रवाइयों का सामना करना पड़ा है। दो मुक़दमों में उन्हें सज़ा भी हुई थी। हालांकि ये पहली बार हुआ है जब उन पर अदालती कार्रवाई ऐसे समय में हो रही है जब उनकी अपनी पार्टी सत्ता में हैं।

राजनीतिक प्रतिक्रियाएं

अदालत के फ़ैसले के बाद एक ट्वीट में मरियम नवाज़ शरीफ़ ने कहा, “शाबाश नवाज़ शरीफ़, आप डरे नहीं, आप झुके नहीं। आपने निजी ज़िंदगी पर पाकिस्तान को तरज़ीह दी। अवाम आप के साथ खड़ी है। जीत आपकी ही होगी। इंशा अल्लाह।”

अदालत के फ़ैसले के बाद नवाज़ शरीफ़ की पार्टी मुस्लम लीग (नवाज़) के नेता तारीक़ फ़ज़ल चौधरी ने पत्रकारों से कहा कि फ़ैसले के ख़िलाफ़ जो भी क़ानूनी कार्रवाई हो सकती है उसे किया जाएगा। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि उनके पास अभी वोट का अधिकार है।

वहीं पार्टी के नेता शहबाज़ शरीफ़ ने कहा है कि उनकी पार्टी इस फ़ैसले को अस्वीकार करती है। उन्होंने कहा कि पूरे मुक़दमे में कोई ठोस क़ानूनी दस्तावेज़ पेश नहीं किए गए। उन्होंने कहा, “मियां नवाज़ शरीफ़ का नाम पानामा मुक़दमे में कहीं नहीं लिखा। एवेनफ़ील्ड और विदेशी कंपनियों में भी उनका नाम नहीं।” उन्होंने कहा कि नवाज़ के ख़िलाफ़ कोई सबूत नहीं थे।

नवाज़ शरीफ़ और उनकी बेटी को दोषी क़रार दिए जाने के बाद पाकिस्तानी अवामी लीग के नेता शेख रसीद ने कहा है कि नवाज़ शरीफ़ अल्लाह की पकड़ में आए हैं। उनका कहना था कि मरियम नवाज़ ने जाली दस्तावेज़ बनाए थे।

Content Source: BBC News

यह भी पढ़ें:

पॉवर बैंक “असली” है या “नकली”, इन तरीकों से करें पता…

टैक्सी ड्राइवर के रूप में दिखे अनिल कपूर, कुछ ऐसी है फन्ने खां की कहानी

अब वर्किंग पैरेंट्स भी बच्चों के साथ बिताएंगे”क्वालिटी टाइम”, सरकार दे रही है ये खास तोहफा

मानसून में वैष्णोदेवी यात्रा पर जाने से पहले पढ़ लें ये खबर, रहेंगे सुरक्षित

Sponsored