Friday, November 24th, 2017 07:21 PM
Flash




दुआओं की लिस्ट तैयार रखिए, होने वाली है ‘टूटते तारों की बारिश’




दुआओं की लिस्ट तैयार रखिए, होने वाली है ‘टूटते तारों की बारिश’Auto & Technology

Sponsored




टूटते हुए तारे को देखकर दुआ हम हर बार मांगते हैं तो इस बार दुआओं की लिस्ट तैयार रखिए क्योंकि अब आपका दुआ मांगने का समय हो गया हैं। जी हां! जिन टूटते हुए तारों को आप सालभर आसमान में सीआईडी की तरह ढूंढते रहते हो वो अब आपको बिना ढूंढने के ही दिखने वाले हैं। दरअसल इस बार आसमान में तारों की बारिश होने वाली है।

कब होगी तारों की बारिश?

तारों की बारिश हर साल 20 से 22 अक्टूबर के बीच होती है। पिछले साल इसे 21 और 22 अक्टूबर की रात को देखा गया था। जिसे नासा के वैज्ञानिकों ने पूर्वानुमान के साथ बताया था। ये बारिश हर साल होती है जिसमें टूटते हुए तारे एक साथ देखे जाते हैं। इस कारण ऐसा प्रतीत होता है मानों तारों की बारिश हो रही है।

इसलिए होगी तारों की बारिश


दरअसल तारों की इस बारिश का नाम ओरिओनिड मेटीयोर शॉवर है। इस नज़ारे के पीछे एक बड़ा कारण हैं इसका नाम ओरियोनिड नक्षत्र से लिया गया है। यह एक वार्षिक घटना है जो केवल तब नज़र आती है जब धरती हैली कॉमट के पास से होकर गुज़रती है। हैली कॉमेट इनर सोलर सिस्टम में 76 सालों में एक बार नज़र आता है और जब ऐसा होता है तो हैली कॉमेट अपना असर छोड़ जाता है। हालांकि यह घटना कई दिनों से चल रही है।

कैसे दिखेगी तारों की बारिश


तारों की बारिश देखने के लिए आपको किसी वैज्ञानिक उपकरण की ज़रूरत नहीं है। यह आपको वैसे ही नज़र आएगा जैसे आम तारा टूटने के बाद दिखाई देता है। आपको बस इतना ध्यान रखना है कि आप ऐसी जगह से इसे देखें जहां शहर की रोशनी और प्रदूषण ना हो रहा हो और आसमान पूरी तरह साफ हो। इसके अलावा जो लोग घर बैठे इसे देखना चाहते हैं वो नासा के मार्शल स्पेस फ्लाइट सेंटर से लाइव स्ट्रीम किए जा रहे चैनल को देख सकते है। यह घटना रात दस बजे से शुरू होगी।

Sponsored






Follow Us

Yop Polls

नोटबंदी का एक वर्ष क्या निकला इसका निष्कर्ष

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories