page level


Thursday, July 19th, 2018 08:49 PM
Flash

राष्ट्रपति के काफिले में फंसी थी प्रेगनट महिला, पुलिस ने खुद कार चलाकर पहुंचाया हॉस्पीटल




राष्ट्रपति के काफिले में फंसी थी प्रेगनट  महिला, पुलिस ने खुद कार चलाकर पहुंचाया हॉस्पीटलSocial



कहते हैं पुलिस के दिल में लोगों के लिए जरा भी दया नहीं होती। वे अपनी ड्यूटी पूरी जिम्मेदारी के साथ निभाती है, ऐसे में उसे फर्क नहीं पड़ता कि कौन महिला है या कौन पुरूष। उनका व्यवहार सभी के लिए एक जैसा होता है। लेकिन भोपाल में एक पुलिस अफसर ने एक ऐसा काम किया, जिससे लोग समझ गए कि पुलिस में भी दया और भावना होती है।

मामला शनिवार का है। शहर के रिटायर्ड बैंक मैनेजर मोहम्मद इकबाल अपनी पत्नी शहाना के साथ अपनी बेटी को लेकर हॉस्पीटल जा रहे थे। इसी दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का काफिला गुजरना था। जिस कारण कार ट्रेफिक जाम में फंस गई। उधर बेटी का लेबर पेन बढ़ता जा रहा था। उस वक्त बेटी की मां ने ड्यूटी पर मौजूद पुलिस अफसर सुदेश तिवारी से मदद मांगी। इसके बाद खुद टीआई ने कार चलाकर उसे हॉस्पीटल पहुंचाया।

मोहम्मद इकबाल ने बताया कि शनिवार सुबह करीब 8.30 बजे वे अपनी पत्नी के साथ बेटी फातिमा को लेकर हॉस्पीटल जा रहे थे। उनकी बेटी की डिलीवरी होनी थी, इसलिए उसे बहुत पेन हो रहा था। लेकिन हमारी कार जाम में फंस गई। वहीं अन्य रास्तों पर से जाने का रास्ता भी बंद कर दिया गया था। बेटी का लेबर पेन बढ़ता जा रहा था, तभी मेरी पत्नी ने एक पुलिस अफसर से मदद मांगी तो उन्होंने तुरंत खुद कार चलाकर बेटी को हॉस्पीटल पहुंचाया। जाम इतना था कि कार को निकालने में ही 15 मिनट लग गए। इसके बाद हॉस्पीटल पहुंचने के आधे घंटे बाद बेटी की डिलीवरी हो गई। फातिमा ने बेटी को जन्म दिया है।

जब फातिमा के पति मोहम्मद मोहिनउद्दीन को इस घटना का पता चला तो उन्होंने ट्विटर पर सुदेश तिवारी का शुक्रिया अदा किया। इस पर सुदेश तिवारी ने कहा कि आपकी फैमिली परेशानी में थी। ऐसे में उनकी मदद करना हमारा कर्तव्य है।

यह भी पढ़ें

गया था FIR लिखवाने, पुलिस ने खिलाया केक

जब पुलिस को सबक सिखाने के लिए एक शख्स ने रची ये खतरनाक साजिश…

Video: गाड़ी में दूध पिला रही थी औरत, पुलिस खींचकर ले गई कार

पुलिस में हैं माता-पिता फिर भी रिपोर्ट दर्ज कराने भटकती रही पीडि़ता

Sponsored