page level


Thursday, May 24th, 2018 09:30 AM
Flash

बैंक ने जारी किया अलर्ट अब से नहीं लेगी इस प्रकार के नोट




बैंक ने जारी किया अलर्ट अब से नहीं लेगी इस प्रकार के नोटBusiness



आरबीआई ने 200 रूपए और 2000 रूपए के नोट को लेकर अलर्ट जारी किया है। डेढ साल पहले जारी हुए 2000 रूपए के नोट और 2017 में 200 रूपए को नोट जारी हुए है। लेकिन अगर किसी वजह से गंदे हो जाएं तो इन्हें न तो बैंकों में जमा किया जा सकता है और ना ही वहां इन्हें बदला जा सकेंगा। इसकी वजह से यह है कि करंसी नोटों के एक्सचेंज से जुड़ें नियमों के दायरे में इन नए नोटो को रखा ही नहीं गया है।

जवानों को नोट पहचानने की ट्रेनिंग देगा आरबीआई

जानिए क्या है वजह 

गंदे, कटे – फटे नोटों को एक्सचेंज का मामला आरबीआई रूल्स के तहत आता है, जो आरबीआई एक्ट के सेक्शन 28 का हिस्सा है। इस एक्ट में 5, 10, 50,100, 500, 1000, 5000, और 10,000 रूपए के करंसी नोटों का जिक्र है, लेकिन 200 और 2000 रूपए के नोटो को अभी इस दायरें से बाहर रखा है।  इसकी वजह यह है कि सरकार और आरबीआई ने इनके एक्सचेंज पर लागू होनेवाले प्रावधानों में बदलाव नहीं किए हैं।

आरबीआई में ऐसे-ऐसे काम हुए है राजन के कार्यकाल में

2000  रूपए के 6.70 लाख करोड़ रूपए मूल्य के नोट सर्कुलेशन में

8 नवंबर 2016 को लागू हुए नोटबंदी के दौरान 2000 रूपए के नोट का ऐलान किया था। जबकि 200 रूपए का नोट अगस्त 2017 में जारी किया गया था। अभी 2,000 रूपएके करीब 6.70 करोड़ के नोट का सर्कुलेशन  में हैं। 17 अप्रैल को इकनॉमिक अफेयरर्स सेक्रटरी सुभाष सी गर्ग ने बताया था कि फिलहाल आरबीआई ने अब 2000 रूपए के नोट छापना बंद कर दिए है।

आरबीआई का तोहफ़ा, एटीएम से कैश निकालने की बढ़ाई लिमिट

सेक्शन 28 में होगा बदलावा 

आरबीआई का दावा है कि उसने 2017 में ही बदलाव की जरूरत के बारे में वित्त मंत्रालय को पत्र भेजा था। मामले की जानकारी रखनेवाले एक सूत्र ने बताया कि आरबीआई को अभी सरकार से कोई जवाब नहीं मिला है। बदलाव ऐक्ट के सेक्शन 28 में करने होंगे, जिसका संबंध ‘खो गए, चोरी हुए, कटे-फटे या अशुद्ध नोटों की रिकवरी’ से है।

2009 में संशोधन जारी 

आरबीआई ने कहा, ‘महात्मा गांधी (नई) रीज के नोटों के आकार में बदलाव के कारण एमजी (न्यू) सीरीज में कटे-फटे/अशुद्ध नोटों की अदला-बदली मौजूदा नियमों के तहत नहीं की जा सकती है। इसके चलते आरबीआई (नोट रिफंड) रूल्स 2009 में संशोधन की जरूरत पैदा हुई है। ऑफिशल गजट में बदलावों का नोटिफिकेशन होने के बाद एमजी (न्यू) सीरीज के कटे-फटे/अशुद्ध नोटों की अदला-बदली की जा सकती है।’

30 करोड़ के नोट जलाएगी आरबीआई

Sponsored