page level


Tuesday, December 12th, 2017 11:44 PM
Flash




नेवी सिपाही ने छुट्टी लेकर कराया सेक्स चेंज, नौकरी से कर दिया बर्खास्त




नेवी सिपाही ने छुट्टी लेकर कराया सेक्स चेंज, नौकरी से कर दिया बर्खास्तSocial

Sponsored




इंडिया के कई व्यक्ति सोचते हैं और शायद उनका सपना होता है कि उनके पास सरकारी नौकरी हो। सरकारी नौकरी का रूतबा और ठाठ-बाठ कुछ अलग ही होते हैं तो विशाखापट्टनम में मनीष कुमार गिरी नामक एक युवा की भी नेवी में सेलर के रूप में नौकरी लगी थी। नौकरी के कुछ दिनों बाद मनीष ने नौकरी से 21 दिन की छुट्टी ली और जब वो लौटा तो नेवी ने उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

नौकरी से बर्खास्त करने की वजह भी काफी रोचक है। दरअसल मनीष ने 22 दिन की छुट्टी लेकर एक प्राइवेट हॉस्पिटल में अपना सेक्स चेंज करवा लिया और ये काम मनीष ने अपनी मर्जी से किया। जिसके चलते नेवी ने उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया। बताया जा रहा है कि इंडियन नेवी में ऐसा यह पहला मामला है।

मनीष कुमार गिरी नाम के इस शख्स ने अपना सेक्स चेंज करवाने के बाद नाम बदलकर सबी गिरी रख लिया है। इंडियन नेवी की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि मनीष ने छुट्टी के दौरान किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में सर्जरी के जरिए सेक्स चेंज करवाया। यह काम उन्होंने अपनी मर्जी से किया था। नेवी का कहना है कि सेलर की पोस्ट पर भर्ती होने के दौरान मनीष का जो जेंडर था, उसमें बदलाव कर उन्होंने भर्ती के नियमों को तोड़ा है।

जानकारी के मुताबिक मनीष मुंबई का रहनेवाला था। उसने एक पुरूष उम्मीदवार के रूप में 7 साल पहले ईस्टर्न नेवल कमान के मरीन इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में बतौर सिपाही ज्वाइन किया था। उनका कहना है कि सर्विस के कुछ सालों बाद उन्हें महसूस हुआ कि उनके अंदर एक महिला है। इसके बाद 2016 में उन्होंने विशाखापट्टनम में एक डॉक्टर से बात की और अपना इलाज करवाया। मनीष ने बताया कि डॉक्टर ने उन्हें सेक्स चेंज करवाने की सलाह दी। इसके बाद उन्होंने 22 दिन की छुट्टी ली और दिल्ली में सेक्स री-असाइनमेंट सर्जरी करवाई।

नहीं मिलेगी पेंशन

सर्जरी के बाद वे विशाखापट्टनम के नेवी बेस में सबी बनकर लौटे। इसके बाद उन्होंने बाल बढ़ा लिए और साड़ी पहननी शुरू कर दी। मनीष का मामला जब नेवी के बड़े अफसरों तक पहुंचा तो उन्होंने इसे रक्षा मंत्रालय के पास भेज दिया। कई महीनों की जांच के बाद अब मंत्रालय ने मनीष उर्फ सबी को नौकरी से बर्खास्त करने का फैसला लिया है। मनीष ने सिर्फ 7 साल की सर्विस पूरी की है। नियम के हिसाब से 15 साल की सर्विस पूरी ना होने की वजह से उन्हें पेंशन भी नहीं मिलेगी।

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें