page level


Thursday, August 16th, 2018 05:52 AM
Flash

एस्ट्रोनॉट बनना चाहते थे बेजॉस, जन्म के समय हाईस्कूल में थे इनके पैरेंट्स




एस्ट्रोनॉट बनना चाहते थे बेजॉस, जन्म के समय हाईस्कूल में थे इनके पैरेंट्सBusiness



अमेजॉन डॉट कॉम के मालिक जेफ बेजॉस दुनिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। कहते हैं कि हर सफलता के पीछे हर इंसान का स्ट्रगल जरूर छिपा होता है, उस स्ट्रगल की कहानी दुनिया के सामने आए, ये जरूरी नहीं। लेकिन दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने बेजॉस की पर्सनल लाइफ से हम आपको रूबरू कराने जा रहे हैं, जो काफी इमोश्रल भी है और रोचक भी।

बचपन से ही बोजेस को हर उस परिस्थिति का सामना करना पड़ा, जिससे आमतौर पर बच्चों का कनेक्शन नहीं होता। आपको जानकर हैरत होगी कि बेजॉस के जन्म के समय उनके माता-पिता खुद हाई स्कूल में पढ़ाई कर रहे थे। जब वे तीन साल के थे, तब उनके माता-पिता का तलाक हो गया। तब उनकी मां ने मिगुअल बेजॉस से शादी की।

एस्ट्रोनॉट बनना चाहते थे बेजॉस-

शायद आपको न पता हो, लेकिन आज बिजनेस वल्र्ड के महान शख्स बचपन में एस्ट्रोनॉट बनने का सपना देखा करते थे। उन्हें किताबों से काफी लगाव था। आठ साल की उम्र में बेजॉस के पैरेंट्स ने उन्हें फुटबॉल और बास्केट बॉल टीम में डाल दिया। उन्हें फुटबॉल टीम का डिफेंसिव कैप्टेन भी चुना गया।

टीन एज में बेजॉस ने गर्मियों के समय में अक्सर मैकडॉनल्ड में फ्राई कुक की नौकरी भी की है। जॉब टाइम में उन्हें इंटेल, बैल लेब्स से जॉब ऑफर्स आए। लेकिन उन्होंने FITEL नाम का स्टार्टअप जॉइन किया। वे यहां 11 नंबर के एम्प्लॉयी थे।

पहले ये रखा था कंपनी का नाम-

जेफ ने जुलाई 1994 में अमेजॉन कंपनी का नाम पहले कैडब्रा रखा था। सितंबर में फिर कंपनी का नाम बदलकर रिलेंटलेस कर दिया, लेकिन उनके दोस्तों के कहने पर उन्होंने इस बार भी नाम बदलकर अमेजॉन रख दिया। बता दें कि बेजॉस के तीन बेटे और एक बेटी है, जिन्हें उन्होंने चाइना से गोद लिया है।

यह भी पढ़ें

बिल गेट्स को पीछे छोड़, जेफ़ बेजोस बने दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति

Forbes 2018 – मुकेश अंबानी टॉप 10 से बाहर, 100 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ यह है सबसे अमीर शख्स

जानिए अपने स्टाफ से कितने गुना ज्यादा कमाते हैं इंडिया की टॉप कंपनीज के एग्जीक्यूटिव्स

 

Sponsored