page level


Saturday, July 21st, 2018 04:25 PM
Flash

बॉडी बिल्डिंग व फिटनेस में देश को गोल्ड दिलाने वाला पहला भारतीय बना सूरज प्रकाश दहिया




बॉडी बिल्डिंग व फिटनेस में देश को गोल्ड दिलाने वाला पहला भारतीय बना सूरज प्रकाश दहियाSports



बचपन में फिट, सुंदर और अलग दिखने की चाह एक दिन आसमान की बुलंदियों पर पहुंचा देगी, ऐसा कभी गांव खेड़ी मनाजात निवासी सूरज प्रकाश दहिया ने सपने में भी नहीं सोचा था। कॉलेज स्तर तक सरकारी नौकरी की चाह मन में थी, लेकिन बहन की प्रेरणा ने जीवन का रुख ही मोड़ दिया। सूरज प्रकाश दहिया ने कुश्ती की राह छोड़ फिटनेश और फैशन जगत को अपना कैरियर बनाया और गोवा में आयोजित हुई प्रतियोगिता में मिस्टर इंडिया का खिताब जीतकर सोनीपत का नाम रोशन कर दिया। शुक्रवार को घर लौटे सूरज प्रकाश दहिया का परिजनों ने जोरदार स्वागत किया। कुश्ती में तीन बार के नेशनल चैंपियन रह चुके पिता बलवान सिंह दहिया बेटे की उपलब्धि पर फूले नहीं समां रहे। अपनी इस उपलब्धि पर सूरज प्रकाश दहिया ने खुलकर बातचीत की और कहा कि बॉडी बिल्डिंग और फिटनेस में देश के लिए गोल्ड मैडल जीतने वाला वह पहला भारतीय है।

गौरतलब है कि गोवा में 7 से 10 मार्च तक फिटनेस और फैशन को लेकर प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। प्रतियोगिता में ओलम्पिया का खिताब जीतने वाले सोनीपत निवासी सूरज प्रकाश दहिया को सीधे तौर पर इंट्री मिली थी। शुरूआत से ही प्रतियोगिता में सूरज की दावेदारी को प्रबल माना जा रहा था। जिसे 10 मार्च को सूरज ने सही साबित कर दिया। जिसके बाद शुक्रवार को सूरज खिताब लेकर सोनीपत पहुंचा, जहां उसका जोरदार स्वागत किया गया।

बेहद कठिन है गेम

सूरज प्रकाश दहिया ने बताया कि बॉडी बिल्डिंग कंपीटिशन आसान गेम नहीं है। चैंपियनशिप की तैयारी के लिए रोजाना 8 से 10 घंटे लगातार कड़ा अभ्यास करना जरूरी है। इसमें डाइट का भी पूरा ध्यान रखना होता है। कंपीटिशन में बेहतरीन प्रदर्शन करने को दो-तीन दिन तक पानी भी छोड़ना पड़ जाता है। इसलिए इस यह गेम बेहद कठिन है।

तीन साल से कर रहा हूं प्रेक्टिस

सूरज प्रकाश बताते हैं कि प्रतियोगिता नजदीक आने पर अंतर्राष्ट्रीय कोच बल्ली मौसम के अनुसार विभिन्न देशों में ले जाकर प्रेक्टिस करवाते हैं, ताकि दूसरे देशों के वातावरण के अनुसार ही खुद को ढाला जा सके। पिछले तीन साल से प्रैक्टिस कर रहा हूं। अपनी फिटनेस और लुक का विशेष ध्यान रखता हूं, यही कारण है आज इंडिया का फिटनेस आईकोन हूं।

ओलंपिया में गोल्ड मेडल जीतने वाला पहला भारतीय बनने का मिला गौरव

सूरज प्रकाश दहिया ने बताया कि अमेरिकन फेडरेशन द्वारा फिटनेस और फैशन को लेकर मुम्बई में आयोजित की गई प्रतियोगिता में भी उन्होंने गोल्ड मेडल प्राप्त किया था। गोवा में आयोजित ओलम्पिया प्रतियोगिता में गोल्ड अपने नाम कर मिस्टर इंडिया का खिताब जीतने वाला सूरज प्रकाश दहिया भारत का पहला मॉडल था। यही नही मिस्टर इंडिया का खिताब जीतने के बाद अप्रैल माह में आयोजित होने वाली मिस्टर यूनिवर्स प्रतियोगिता के लिए भी सूरज प्रकाश दहिया भारत की तरफ से एकमात्र प्रतिभागी होगा। सूरज कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय फैशन शो में भी भाग ले चुका है।

बहन ने दिखाई फैशन की राह

सूरज ने बताया कि 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने जिम ज्वाईन कर लिया था। कालेज में सेकंड ईयर के थर्ड सेमेस्टर में बहन पारूल दहिया ने मेरी डेडीकेशन देख फैशन में हाथ आजमाने की बात कही। जिम में कड़ी मेहनत कर अच्छी बॉडी बन गई थी और फेस भी गोड गिफ्टिड था ही। बहन की प्रेरणा से दिल्ली के नरेला में बॉडी बिल्डिंग की तैयारी शुरू कर दी। इसके साथ उसने फिटनेस मॉडलिंग के लिए यूएसए से पढ़ाई शुरू की। 13 मार्च 2015 को नोएडा में हुए एक फिटनेस शो में मिली शानदार कामयाबी के बाद सूरज ने फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। अब दुबई में 25 से 28 मार्च को इंटरनेशनल फैशन शो में हिस्सा लेगा।

परिवार का मिला पूरा सहयोग

सूरज का कहना है कि इस मुकाम तक पहुंचाने में उनके परिवार ने पूरा सहयोग दिया। पिता बलवान सिंह दहिया नेशनल लेवल के खिलाड़ी और कुश्ती कोच रहे हैं। उन्होंने मनजीत और जोगेन्द्र जैसे अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को निखारने में अहम योगदान दिया है। लेकिन उन्होंने कभी मुझपर कुश्ती क्षेत्र को ही चुनने का दबाव नहीं बनाया। शुरूआत में इस क्षेत्र को चुनने की बात कही थी, लेकिन रूची ना देख उन्होंने कभी दबाव नहीं डाला और हर कदम पर भरपूर साथ दिया।

तीन लोग हैं आईडल

सूरज दहिया कहते हैं कि वे दुनिया में तीन लोगों को अपना आईडल मानते हैं। इनमें ब्रुस-ली, मोहम्मद अली और आरनोल्ड हैं। इन्होंने अलग-अलग क्षेत्र में कड़ी मेहनत से अपना एक अलग मुकाम बनाया है और तीनों ही एक ही चीज तक सीमित नहीं रहे। मैं भी इनकी ही तरह अलग पहचान बनना चाहता हूं और इस पर कड़ा परीश्रम भी कर रहा हूं।

फिल्मी दुनिया में नाम कमाने की चाह

फिटनेश और फैशन जगत में सोनीपत का नाम रोशन करने के बाद अब सूरज प्रकाश दहिया फिल्मी दुनिया में नाम कमाना चाहता है। फिल्मी दुनिया में पिछले कई वर्षों से काम कर रहे खेड़ी मनाजात गांव निवासी संजय पारासर को सूरज मुंह बोला चाचा कहते है। जिनकी देखरेख में सूरज ने वर्ष 2019 में फिल्म प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए सूरज अब एक्टिंग की क्लास भी लेंगे। संजय पारासर बहुचर्चित फिल्म जीनियस में महत्वपूर्ण किरदार निभा रहे है। जो अगस्त 2019 में रिलीज होगी।

बेटे की प्रतिभा पर था पूरा विश्वास

सूरज प्रकाश के पिता बलवान सिंह दहिया ने बताया कि सूरज को बचपन से अच्छे कपड़े पहनने, सबसे अलग दिखने की चाह थी। शुरूआत में सूरज कुश्ती, हॉकी, बास्केटबॉल खेलों में काफी रुचि लेता था। परन्तु बाद में उसने फिटनेस और फैशन के क्षेत्र में कैरियर बनाने का मन बनाया। बेटे की प्रतिभा पर पूरा विश्वास था और उसके निर्णय का समर्थन किया। बेटे ने मिस्टर इंडिया का खिताब जीतकर उस विश्वास को मजब

यह भी पढ़ें:

इस शख्स ने रणवीर को दिलवाया था पहला रोल, 8 साल बाद हुआ खुलासा

63 की उम्र में ऋतिक रोशन से ज्यादा फिट हैं उनकी मां, वायरल हो रहा है वर्कआउट वीडियो

24 साल की इस लड़की ने रचा इतिहास, बनी राजस्थान की पहली MBBS महिला सरपंच

कूल look के लिए बेस्ट हैं ये सनग्लासेस

Sponsored