page level


Sunday, December 17th, 2017 12:30 AM
Flash




तेज प्रताप बोले- सुशील अंकल की शर्तें मंजूर, पर धोखा देने वाली दुल्हनिया नामंजूर




तेज प्रताप बोले- सुशील अंकल की शर्तें मंजूर, पर धोखा देने वाली दुल्हनिया नामंजूरPolitics

Sponsored




रविवार को बिहार के बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के बेटे उत्कर्ष और यामिनी परिणय सूत्र में बंधे। वर वधू को आशीर्वाद देने के लिए कई राज्यों के सीएम, राज्यपाल समेत कई केंद्रीय मंत्री पहुंचे। राजद प्रमुख लालू यादव भी शादी में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। इतना ही नहीं लालू के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को भी सुशील कुमार मोदी ने इस विवाह में आमंत्रित किया था, लेकिन वह इस विवाह में शामिल नहीं हुए। हालांकि, मीडिया के माध्यम से तेज प्रताप ने नए जोड़े को शुभकामनाएं दी।

सुशील मोदी ने मानी तेज प्रताप की बात

 

जैसे ही तेज प्रताप की यह बात सुशील मोदी को पता चली तो उन्होंने भी देर ना करते हुए इसे स्वीकार कर ली और उन्होंने अपने ट्विटर खाते से ट्वीट करते हुए उनकी इस बात का जवाब दिया। दरअसल सुशील मोदी ने ट्वीट करके लिखा कि वह तेज प्रताप यादव के लिए दुल्हनिया ढूंढ़ देंगे, लेकिन तेज प्रताप को ये तीन शर्तें माननी होंगी। पहली शर्त यह कि वह अपनी शादी में दहेज नहीं लेंगे, दूसरी शर्त यह कि वह अंगदान करने का संकल्प लें और तीसरी शर्त यह कि वह भविष्य में किसी के भी विवाह में तोड़फोड़ करने की धमकी नहीं देंगे।

सुशील मोदी के ट्विट का तेज प्रताप ने दिया जवाब

सुशील मोदी के इन शर्तों का भी तेज प्रताप यादव ने कुछ ही घंटों के अंदर ट्विटर के जरिए जवाब दे दिया है साथ ही तेज प्रताप ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा है, सुशील अंकल के सभी शर्तें मंजूर पर मेरा एक ही शर्त! अपने लिए जिस तरह से नीतीश चाचा को दुल्हा माना है उसी तरह की धोखा देने वाली दुल्हन मुझे मंजूर नहीं।

जुबानी जंग के साथ-साथ ट्विटर पर भी जंग शुरू

इन दोनों के ट्विट को देख कर ऐसा लग रहा है की अब तेज प्रताप की दुल्हनिया को लेकर अब सुशील मोदी और उनके बीच जुबानी जंग के साथ-साथ ट्विटर पर भी जंग शुरू हो गई है। गौरतलब है कि, कुछ दिन पहले ही तेज प्रताप ने सुशील मोदी के घर में घुसकर उन्हें मारने की और उनके बेटे की शादी में घुसकर तोड़फोड़ करने की धमकी दी थी।

यह भी पढ़े: 

पुण्यतिथि विशेष: अभिनेत्री से नेता बनने तक जयललिता के जीने का अंदाज ही अलग था

मुंबई पहुंचने वाला है “ओखी”, हाई अलर्ट घोषित

ऐसा क्या हुआ, कि थरूर को करने पड़ी अपने जिंदा होने की पुष्टि

IIM रायपुर ने रिलायंस के लिए 2 दिवसीय प्रबंधन विकास कार्यक्रम आयोजित किया

25 साल का हुआ SMS, दुनिया का पहला संदेश कौन-सा था, जानें

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें