page level


Tuesday, August 14th, 2018 03:49 PM
Flash

“कलईनार” के 10 वो बड़े काम, जिसने बदल दी थी लोगों की जिन्दगी




“कलईनार” के 10 वो बड़े काम, जिसने बदल दी थी लोगों की जिन्दगीPolitics



तमिलनाडु में 6 दशक तक राजनीति में अपना वर्चस्व बनाए रखने में कामयाब हुए एम करूणानिधि का निधन बीती शाम हो गया। लंबी बीमारी के बाद उन्होंने मंगलवार शाम चेन्नई के कावेरी अस्पताल में इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उनकी याद में उनके चाहने वालों से लेकर उनके समर्थक आंसू बहा रहे हैं। वहीं कुछ लोग उनकी उपलब्धियों की दुहाई दे रहे हैं।

भारतीय राजनीति में करूणानिधि ने लोगों के लिए वो बड़े काम कर दिखाए जिसके बाद उन्हें जीवनभर भुलाना आसान नहीं होगा। क्या गरीब क्या जरूरतमंद उन्होंने हर एक व्यक्ति को उनका न केवल हक दिलाया, बल्कि उनके लिए कई सुविधाएं भी मुहैया कराई। यही वजह है कि वे तमिलनाडु के लोगों के दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे। तो आइए जानते हैं करूणानिधि के वो बड़े काम, जिसके लिए वे भारतीय राजनीति में हमेशा जाने जाएंगे।

# 1967 के चुनावों में जब पार्टी पहली बार सत्ता में आई, तो करूणानिधि को लोरक निर्माण और परिवहन मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई। जिसके बाद उन्होंने सबसे पहले स्कूलों में कार्यक्रमों की शुरूआत में एक तमिल राजगीत अनिवार्य किया। इससे पहले यहां बस धार्मिक गीत ही गाए जाते थे।

# परिवहन मंत्री के तौर पर उन्होंने निजी बसों का राष्ट्रीयकरण किया और राज्य के हर गांवों को बसों से जोडऩा शुरू किया।

# कस्णानिधि ने अपनी पहली बार सरकार बनने के दौरान ही जमीन के मालिकाना को 15 एकड़ तक सीमित कर दिया था। यानि कोई भी व्यक्ति इससे ज्यादा एकड़ की जमीन का मालिकाना हक नहीं रख सकता।

# पिछड़ी जातियों के लिए उन्होंने आरक्षण पर काम किया। शिक्षा और नौकरी में पिछड़ी जातियों के आरक्षण की सीमा 25 से बढ़ाकर 31 फीसदी कर दी।

करूणानिणि की बदौलत ही ऐसा कानून बना, जिसमें हर शख्स मंदिर का पुजारी बन सकता है।

# करूणानिधि ही थे, जिनकी वजह से लड़कियों को पिता की संपत्ति में बराबर का हक मिला।

# करूणानिधि ने अपने कार्यकाल में सामाथुवापुरम नाम की हाउसिंग स्कीम की शुरूआत की, जिसके तहत गरीब लोगों को रहने के लिए छत उपलब्ध कराई गई।


– जनता के लिए फ्री स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरूआत की। उनके कार्यकाल में ही उन्होंने गरीबों का पेट भरने के लिए महज एक रूपए किलो की दर पर चावल उपलब्ध कराए।

– कलईनार ने राज्य की सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 30 प्रतिशत आरक्षण दिया।

# मंडल कमीशन को लागू कराने में करूणानिधि ने अहम रोल अदा किया था। आरक्षण को लेकर बने इस कमीशन के लागू होने के बाद पिछड़े वर्ग के लोगों को केंद्र सरकार की नौकरियों में आरक्षण मिलना शुरू हो गया था।

यह भी पढ़ें

करूणानिधि की समाधि मरीना बीच पर बनेगी या नहीं, कुछ देर में होगी सुनवाई

जिन्दगी की जंग लड़ रहे “करूणानिधि” के लिए 24 घंटे अहम, 14 की उम्र में छोड़ दिया था घर

ICU में भर्ती हुए Ex-CM, मोदी ने विदेश से पूछा हालचाल

Sponsored