page level


Sunday, September 23rd, 2018 01:15 AM
Flash

Whatsapp को लेकर सख्त हुई सरकार, दिया ये निर्देश…




Whatsapp को लेकर सख्त हुई सरकार, दिया ये निर्देश…Auto & Technology



सोशल मीडिया ऐप व्हॉट्सएप भले ही आपकी जिन्दगी में बातचीत और शेयरिंग का अच्छा सोर्स बन गया हो, लेकिन सच तो ये है कि इसकी वजह से कई जिन्दिगयां तबाह भी हो रही हैं। व्हाट्सऐप के जरिए फैलने वाले फर्जी और फिजूल के मैसेज को लेकर केंद्र सरकार अब एक बड़ा कदम उठाने वाली है। सरकार ने ऐसी मॉब लिंचिंग को रोकने के लिए अब मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप को निर्देश जारी किए हैं।

बता दें कि सरकार इन सबसे निपटने के लिए फेसबुक, ट्विटर की भी मदद लेने की प्लानिंग कर रही है। बता दें कि बीते कुछ दिनों से बच्चा चोरी की अफवाह की वजह से करीब 5 लोगों की पीटकर हत्या कर दी गई है। वहीं पिछले महीने में भी असम में भी व्हाट्सएप पर अफवाह के कारण दो पयर्टकों की हत्या कर दी गई थी। त्रिपुरा में भी एक बच्चे की चोरी की अफवाह से ही भीड़ ने लोगों की जान ले ली। इसके अलावा झारखंड, मध्यप्रदेश केरल ओर पश्चिम बंगाल में भी मॉब लांचिंग की घटनाएं बढ़ चुकी हैं।

मंत्रालय के आधिकारिक बयानों के अनुसार व्हाट्सएप पर भड़काऊ चीजों का बार-बार प्रसार होना भारत सरकार के लिए चिंता का विषय है। वहीं सरकार से मिले निर्देश के बाद व्हाट्सएप ने भी मंगलवार को कहा है कि गलत सूचनाओं के फैलने पर रोक लगाने के लिए रिसर्च कार्य किया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, गृह मंत्रालय जल्द ही सोशल मीडिया के अधिकारियों को मामले पर बैठक के लिए बुलाएगा। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि बच्चा चोर होने के संदेह में लोगों की पीट-पीटकर हत्या करने की हालिया घटनाओं ने सबको चिंतित किया है और बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की जाएगी। 16 जून को गृह सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में अंतर-मंत्रालयी बैठक में सोशल मीडिया मंचों के प्रतिनिधियों को बुलाने का फैसला किया गया। 

राज्यों को एडवाइजरी जारी होगी

व्हाट्सएप पर अफवाओं के चलते पिछले 4 महीने में 29 लोगों की हत्या के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के डीजीपी को एडवाइजरी भेजने की तैयारी कर रही है। राज्यों को निर्देश दिया जाएगा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किया जाए। व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए फर्जी वीडियो, खबर डालने वाले और अफवाह फैलाने वालों पर स्थानीय पुलिस की नजर रहेगी। समाज में तनाव का माहौल बनने पर आरोपी लोगों से सख्ती से पुलिस निपटेगी।

बता दें कि मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि एमईआईटीवाई ने ऐसे मंच से इन गैर जिम्मेदाराना संदेशों और उनके प्रसार का कड़ा संज्ञान लिया है। साथ ही सरकार ने मामले पर वॉट्सएप के अधिकारियों को भी कड़ी चेतावनी दी है कि ऐसे मैसेजेस और वीडियो को रोकने के लिए कंपनी खुद से भी कदम उठाए।  सरकार ने कहा कि ऐसे मामलों पर कंपनी अपनी जवाबदेही से बच नहीं सकती है।

भारत मे बढ़े व्हॉट्सएप यूजर

पूरी दुनिया में देखा जाए, तो 150 करोड़ व्हॉट्सएप यूजर हैं , वहीं भारत में इसके 20 करोड़ यूजर हैं। व्हाट्सएप के जरिए मैसेज भेजने का ट्रेंड भारत में काफी बढ़ा है, जिसके कारण सूचनाओं का गलत प्रसारण तेजी से हो रहा है। अगर सरकार व्हॉट्सएप पर गलत सूचनाओं को रोकने के लिए कोई नई तकनीक बनाती है, तो मॉब लीचिंग को काफी हद तक रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें

व्हॉट्सएप में हुआ मजेदार बदलाव, अब वीडियो स्टेटस भी रख सकेंगे आप

फेसबुक -व्हाट्सएप पर लगेगा “टैक्स”, देना होगा इतना चार्ज

Trick: आपके फेसबुक का पासवर्ड तो किसी और को नहीं पता? जानने के लिए ऐसे करें ट्राई

इस राज्य में Whatsapp calling पर लगेगी रोक

Sponsored






You may also like

No Related News