page level


Wednesday, December 13th, 2017 08:34 PM
Flash




“पटाखों पर बैन” बना मुख्य मुद्दा, सोशल मीडिया पर जमकर आ रहीं हैं तीखी प्रतिक्रिया




“पटाखों पर बैन” बना मुख्य मुद्दा, सोशल मीडिया पर जमकर आ रहीं हैं तीखी प्रतिक्रियाSocial

Sponsored




दिवाली के त्योहार को फीका करने की पूरी तैयारी सुप्रीम कोर्ट ने कर ली है। कोर्ट ने आदेश दिया है कि दिल्ली एनसीआर में अब पटाखों की ब्रिकी नहीं हो सकेगी। इस साल लोगों को दिवाली बिना पटाखों के जलानी पड़ेगी। कोर्ट के इस फैसले से लोग काफी निराश हैं। भले ही कोर्ट ने ये फैसले बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए लिया हो, लेकिन लोगों का तर्क है कि बिना पटाखे कैसी दिवाली। सोशल मीडिया पर पटाखों पर बैन एक मुख्य मुद्दा बन गया है। अब गुस्साए लोग तरह-तरह के ट्वीट करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं।

कुछ दिन पहले चेतन भगत ने भी पटाखों पर बैन को लेकर एक ओपन लेटर लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि हमेशा हिन्दुओं के त्योहारों को ही फीका करने की कोशिश की जाती है, कोई दूसरे धर्म पर उंगली क्यों नहीं उठाता। केवल चेतन भगत ही नहीं बल्कि खास से लेकर आम लोग भी अब अपनी गुस्सा सोशल मीडिया यानि वाट्सएप और फेसबुक पर जाहिर कर रहे हैं।

होली हो तो रंगों पर बैन, नवदुर्गा हो तो विर्सजन पर बैन

पटाखों पर रोक लगाने के बाद छिड़ी चर्चा में मनोज कुमार वर्मा ने तर्क दिया है कि होली है तो रंगों पर बैन, नवदुर्गा है तो विसर्जन पर बैन और अब दिवाली है तो पटाखों पर बैन। हमेशा हिन्दुओं के त्योहारों को ही क्यों निशाना बनाया जाता है। दूसरे समुदाय के त्योहार में जिस कदर नालियों में बकरों का खून बहाया जाता है वो किसी को नजर नहीं आता। डस्टबिन में उनके शरीर के अवशेष फेंक दिए जाते हैं, जिससे गंदगी फैलती है ,वो नहीं दिखता, उस पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगाया जाता।

तो क्या वॉट्एसप पर फोड़ेंगे पटाखे: राज ठाकरे

सरकार के इस फैसले का विरोध शिवसेना और मनसे ने भी किया है। उन्होंने कहा है कि वे महाराष्ट्र के सीएम से बात करके पूछेंगे कि क्या महाराष्ट्र में भी दिल्ली का ये आदेश लागू होगा। इस मामले में राज ठाकरे की तीखी प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा है कि अगर पटाखे दिवाली पर नहीं, तो क्या वॉट्सएप पर फोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि हमेशा हिन्दू धर्म ही क्यों जलवायु, वायु प्रदूषण आदि की चिंता करता रहे अन्य धर्म क्यों नहीं इसकी परवाह करते। उन्होंने लोगों को मैसेज दिया है कि लोग जिस तरह दिवाली मनाते हैं, वैसे ही मनाएं।

 

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें