page level


Sunday, December 17th, 2017 05:35 PM
Flash




दो राज्यों में एक साथ खड़ी होती है ट्रेन, ऐसे हैं ये दो रेल्वे स्टेशन




दो राज्यों में एक साथ खड़ी होती है ट्रेन, ऐसे हैं ये दो रेल्वे स्टेशनTravel

Sponsored




इंडिया में रेल्वे स्टेशन की कमी नहीं है। विकीपीडीया के अनुसार इंडिया में 7216 रेल्वे स्टेशन हैं। इंडिया के रेल्वे स्टेशन भी काफी ख़ास हैं। कोई बड़ा होने के लिए फेमस है तो कोई अपनी सर्विसेस के कारण लेकिन आज हम आपको दो ऐसे रेल्वे स्टेशन के बारे में बताएंगे जो दो राज्यों में बसे हुए है।

जी हां! इंडिया में दो ऐसे रेल्वे स्टेशन हैं जो दो राज्यों में बसे हुए हैं। इनका नाम तो एक ही है, स्टेशन भी एक ही है लेकिन पूरा स्टेशन दो राज्यों में बसा हुआ है। यहां जब आप टिकट कटाएंगे तो पहले राज्य में रहेंगे और ट्रेन में बैठेंगे तो दूसरे राज्य में पहुंच जाएंगे। जानकारी के मुताबिक भारत में ऐसे दो ही स्टेशन हैं। आइए इनके बारे में आपको बताते हैं।

1. भवानी मंडी
भवानी मंडी रेल्वे स्टेशन दो राज्यों के बीच में बसा हुआ है। ये रेल्वे स्टेशन मध्यप्रदेश और राजस्थान की सीमा पर बसा हुआ है। आप यहां आकर कन्फयूज भी हो सकते हैं क्योंकि यहां पर आधी ट्रेन मध्यप्रदेश में और आधी ट्रेन राजस्थान में खड़ी होती है और लोग अक्सर यहां आकर फोन पर मज़ाक करते हैं कि हम राजस्थान में खड़े हैं और हम मध्यप्रदेश में।

2. नावापुर
नावापुर भी कुछ ऐसा ही रेल्वे स्टेशन है जो दो राज्यों के बीच में बना हुआ है। यहां पर भी ट्रेन दो राज्यों में खड़ी होती है। ये स्टेशन महाराष्ट्र और गुजरात की सीमा पर बना हुआ है। यहां कहा जाता है कि आप टिकट एक राज्य में कटवाते हैं और ट्रेन में बैठने दूसरे राज्य में जाना पड़ता है।

3. श्रीरामपुर और बेलापुर
इन दोनों के अलावा एक स्टेशन ऐसा भी है जिसके दो नाम है। इस स्टेशन का नाम श्रीरामपुर भी है और बेलापुर भी है। अब आप कहेंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है तो आपको बता दें कि इस स्टेशन पर प्लेटफार्म दो तरफ है। एक तरफ वाले प्लेटफार्म का नाम श्रीरामपुर है जबकि दूसरे तरफ वाले का बेलापुर है।

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें