page level


Wednesday, April 25th, 2018 09:55 PM
Flash

“Day Zero” तक पहुंच सकता है भारत में जल संकट, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी




“Day Zero” तक पहुंच सकता है भारत में जल संकट, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनीSocial



भारत के कई हिस्सों में गर्मी चरम पर पहुंच चुकी है। ऐसे में हर साल की तरह अब भी देश में पानी का भारी संकट नजर आ रहा है। हालांकि पिछले कुछ साल में पानी के संकट से जूझ रहे इलाकों में पानी की कमी पूरी हुई है, बावजूद इसके देश में पानी का भारी संकट गहरा सकता है। वैज्ञानिकों ने हाल ही में भारत के लिए जल संकट को लेकर भारी चेतावनी जारी की है। उपग्रह प्रणाली के रिसर्च के अध्ययन पर बेस्ड एक रिपोर्ट में कहा गया है भारत बहुत जल्द पानी की भारी समस्या से जूझ सकता है। हो सकता है कि दुनिया के कुछ देशों की तरह भारत को भी डे जीरो की परेशानी से जूझना पड़े।

वैज्ञानिकों ने कहा है कि केवल भारत ही नहीं बल्कि मोरक्को, स्पेन, इराक में लगातार सिकुड़ रहे जलाशय के कारण यहां भी जल संकट गहरा सकता है। यहां भी जल सकंट डे जीरो तक पहुंच जाएगा। जिसमें नलों से पानी आना भी बंद हो जाएगा।

वल्र्ड रिसोर्स इंस्टीट्यूट के अनुसार बढ़ती मांग औश्र बदलते जलवायु परिवर्तन के कारण अन्य देश भी पानी की कमी से जूझ रहे हैं। अमेरिका में स्थित एनवायरमेंटल ऑर्गेनाइजेशन डेल्टारेस, डच सकार के साथ मिलकर वॉटर सेफ्टी से जुड़ी चेतावनी पर मिलकर काम कर रहा है।

इंदिरा सागर में नहीं है पानी-

बात अगर जल संकट से गहराने वाले राज्य मध्यप्रदेश की करें तो पिछली साल यहां इंदिरा सागर में पानी निचले स्तर पर पहुंच गया था। जिससे यहां पानी के लिए हाहाकार मच गया था। तब इसकी भरपाई के लिए निचले क्षेत्र पर स्थित सरदार सरोवर बांध से पानी लिया गया था। तब भी इसे लेकर बड़ा बवाल मचा था। बता दें कि इस जलाशय से लगभग 30 करोड़ की आबादी के लिए पानी की व्यवस्था की जाती है। वहीं पिछले महीने गुजरात सरकार ने भी पानी न होने की वजह से नई फसल न उगाने की अपील की थी।

कहीं न हो जाए जल के लिए युद्ध-

पानी की कमी का मुख्य कारण अच्छी बारिश होने से ही नहीं है। इजरायल में भी 25 सेमी से भी कम बारिश होती है, लेकिन वहां जल को वेस्ट नहीं किया जाता। वहां वॉटर मैनेजमेंट टेकनीक काफी डवलप है। भारत में मात्र 15 प्रतिशत ही पानी का इस्तेमाल होता है, बाकी सब यूं ही सड़कों और नालों में बहता है। आज विश्व में हर जगह तेल के लिए युद्ध हो रहा है, अगर जल संकट गहराता गया, तो ऐसा न हो कि आने वाले दिनों में जल के लिए युद्ध हो जाएं।

क्या है “डे जीरो”-

डे जीरो वो दिन है जब शहर के अधिकारियों को 75 प्रतिशत घरों की पानी की सप्लाई की कटौती करनी होती है। इसके तहत शहर में बने 200 वॉटर पॉइन्ट्स पर 25 लीटर ही पानी दिया जाएगा। जिसे भी सुरक्षा के घेरे में रखा जाएगा।

 यह भी पढ़ें

मोदी ने किया सौनी योजना का शुभारंभ, दूर होगा सौराष्ट्र का जल संकट

जाट आंदोलन से आया दिल्ली में ‘‘जल संकट’’

विश्व जल दिवस : दुनिया में गहराता पानी का संकट, 2025 तक पानी की समस्या से जुझेगे लोग

इस देश में लोगों के नहाने और फ्लश करने पर लगी रोक, वजह आपको सोचने पर कर देगी मजबूर

Sponsored