page level


Tuesday, September 25th, 2018 12:11 AM
Flash

शेयर मार्केट में आपका पैसा फंसने से रोकेगा सरकार का नया कानून




शेयर मार्केट में आपका पैसा फंसने से रोकेगा सरकार का नया कानूनBusiness



आईपीओ (इनिशियल पब्लिक ओफरिंग) के लिए आवेदन करने के लिए अब तक थोड़ी टेड़ी प्रोसेस से गुजरना पड़ता था, जिसके लिए समय भी ज्यादा लगता था लेकिन अब इस प्रक्रिया को ओर भी आसान कर दिया है। अब से आईपीओं में आवेदन करने के लिए भारत की स्टॉक रेगुलेटर सेबी द्वारा विकसित की गई एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में अब एक आईपीओ आवेदक के खाते को तब तक डेबिट नहीं किया जा सकता जब तक उन्हें शेयरों को आवंटित नहीं किया जाता।

एस्बा क्या है कैसे यह काम करता है, और इसके लिए आपको क्या करना होगा और क्या फायदे होंगे, आइए जानते है-

1. एस्बा यानि एप्लीकेशन सपोर्टेड बाइ ब्लॉक्ड अमाउंट निवेशकों के लिए फायदे की बात है। इसके तहत बैंक अकाउंट में एप्लीकेशन के पैसे ब्लॉक करने की अर्जी दी जा सकती है।

2. एस्बा को चुनाव एक तरह से आवेदकों के हित में है। इसके आवेदन किए शेयरों की रकम शेयर आवंटन के बाद ही खाते से निकाले जाते हैं और आवेदक को रिफंड के लिए इंतजार नहीं करना होता है।

3. इसके तहत बैंक खाते में एप्लीकेशन मनी ब्लॉक करने के लिए आवेदन देना पड़ता है। इसके बाद शेयर आवंटन होने पर ही अकाउंट से रकम निकाली जाती है।

4. इसका एक और फायदा यह भी है कि शेयर आवंटन नहीं होने पर रिफंड का झंझट नहीं रहता और बिना ब्याज के नुकसान के निवेशक आईपीओ के लिए अप्लाई कर सकते है इसके अलावा आवेदक को रिफंड चेक गुम होने या देरी का भी डर नहीं रहता।

5. आवेदन करने हेतु बैंक, स्टॉक ब्रोकर, आरटीए और डीपी को आवेदन फॉर्म स्वीकार करने की अनुमति दी गई है। ये आवेदन ऑनलाइन और फिजिकल दोनों तरीके से हो सकेंगे। इसके लिए इनवेस्टर्स को एस्बा के तहत फॉर्म भरने होंगे।

यह भी पढ़ें

इस शख्स की खासियत जान , संसद ने दिया जीवन भर राष्ट्रपति बने रहने का मौका

लंबे समय तक मिलेगी परमानेंट इनकम, इन 5 जगहों पर करें इनवेस्ट

पिछले 6 महीनों में कहाँ यूज हुआ आपका आधार, फ्री में ऐसे जानें

1 अप्रैल से लागू होगा ई -वे बिल, जानिए क्या होता है

Sponsored