page level


Tuesday, August 14th, 2018 07:01 PM
Flash

करूणानिधि की समाधि मरीना बीच पर बनेगी या नहीं, कुछ देर में होगी सुनवाई




करूणानिधि की समाधि मरीना बीच पर बनेगी या नहीं, कुछ देर में होगी सुनवाईPolitics



तमिलनाडु के पूर्व सीएम और डीएमके प्रमुख एम. करूणानिधि का मंगलवार शाम निधन हो गया। उनके निधन के बाद मंगलवार की रात उस समय विवाद खड़ा हो गया जब एआईएडीएमके सरकार ने मरीना बीच पर करूणानिधि की समाधि बनाने से इंकार कर दिया। इस फैसले के खिलाफ डीएमके समर्थकों में मद्रास हाईकोर्ट में याचिका दायर कर आपात सुनवाई की मांग की है, जिसका फैसला बुधवार सुबह 8 बजे होगा। बता दें कि डीएमके ने मांग की थी कि करूणानिधि के निधन के बाद उन्हें दफनाने के लिए मरीना बीच पर जगह दी जाए।

लेकिन सरकार ने पहले कहा था कि मरीना बीच पर करूणानिधि को दफनाने की अनुमति नहीं दी जा सकती। क्योंकि इस संबंध में मद्रास हाईकोर्ट में याचिका लंबित है।

एमके स्टालिन ने की थी मांग
यह विवाद ऐसे समय में खड़ा हुआ है, जब वृहन चेन्नै निगम को प्रसिद्ध मरीना बीच पर शवों का अंतिम संस्कार की इजाजत देने से रोकने का अनुरोध करने वाली एक जनहित याचिका को मद्रास उच्च न्यायालय से वापस ले लिया गया। स्‍टालिन ने इस संबंध में सीएम से मुलाकात भी की थी। इससे पहले तमिलनाडु के राज्य सचिव ने बयान जारी कर कहा था कि वह मद्रास हाई कोर्ट में लंबित कई मामलों और कानूनी समस्याओं के चलते मरीना बीच पर जगह देने में असमर्थ है। हालांकि सरकार सरदार पटेल रोड पर राजाजी और कामराज के स्‍मारक के पास दो एकड़ जगह देने के लिए तैयार है। बता दें कि पूर्व सीएम एमजी रामचंद्रन और जे जयललिता को भी मरीना बीच पर ही दफनाया गया था। दोनों ही करुणानिधि के धुर विरोधी रहे हैं।

तमिलनाडु में सात दिन का शोक-

तमिलनाडु में करूणानिधि के निधन पर आज अवकाश और सात दिन का राज्य शोक रखा गया है। राज्य के मुख्य सचिव गिरजा वैद्यनाथन ने बताया है कि इन सात दिन झंडा झुका रहेगा। सभी सरकारी काम बंद रहेंगे । साथ ही दो दिनों तक राज्य के सभी सिनेमा हॉल भी बंद रहेंगे।

यह भी पढ़ें

जिन्दगी की जंग लड़ रहे “करूणानिधि” के लिए 24 घंटे अहम, 14 की उम्र में छोड़ दिया था घर

ICU में भर्ती हुए Ex-CM, मोदी ने विदेश से पूछा हालचाल

15 अगस्त पर भाषण के लिए मोदी मांग रहे हैं आपका सुझाव , ऐसे दे सकते हैं सुझाव

Sponsored