page level


Thursday, February 22nd, 2018 10:05 PM
Flash

ब्रिक्स देशों को पछाड़ कर इस नंबर पर पहुंचा भारत, दुनिया में 5वां सबसे बड़ा मैन्युफैक्चुरिंग देश




ब्रिक्स देशों को पछाड़ कर इस नंबर पर पहुंचा भारत, दुनिया में 5वां सबसे बड़ा मैन्युफैक्चुरिंग देशBusiness




भारत कई बड़े पैमाने पर आगे बढ़ रहा है। हाल ही में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) की ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग इंडेक्स में जारी रिपोर्ट के मुताबिक भारत को 30वीं रैंक मिली है। इस सूची में भारत के साथ में कई बड़े देश और ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, इंडिया, चाइना और साउथ अफ्रिका) के सभी देश शामिल थे। डब्ल्यूईएफ की की रीडिनेस फॉर द फ्यूचर ऑफ प्रोडक्शन रिपोर्ट की रैंकिंग के मुताबिक इस लिस्ट में चीन को पांचवा स्थान मिला है, जबकि जापान पहले स्थान पर रहा है। भारत, चीन से तो पीछे रहा लेकिन अन्य देशों से काफी आगे रहा हैं।

ब्रिक्स देशों में से चीन से पीछे रहा बस

रिपोर्ट के मुताबिक भारत ब्रिक्स देशों में से चीन से पीछे रहा लेकिन ब्राजील, चीन और रूस से आगे रहा। ब्रिक्स देशों में चीन को 5वां, भारत को 30वां, रूस को 35वां, ब्राजील को 41वां और दक्षिण अफ्रीका को 45वां स्थान मिला है। टॉप -10 की सूची में जापान के बाद दक्षिण कोरिया, जर्मनी, स्विट्जरलैंड, चीन, चेक रिपब्लिक, अमेरिका, स्वीडन, ऑस्ट्रिया और आयरलैंड के नाम हैं।

4 कैटेगरी में 100 देशों को किया विभाजित

इस रिपोर्ट में कुल 100 देश थे जिन्हें 4 कैटेगरी में बांट दिया गया था। चार कैटगरी लीडिंग, हाई पोटेंशियल, लीगैसी, और नैसेंट शामिल हैं। इन चार कैटगरी का मतलब कुछ इस प्रकरा से बताया गया है-

– लीडिंग मतलब जिन देशों का वर्तमान आधार मजबूत है और भविष्घ्य के प्रति मुस्तैदी ज्यादा है।

– हाई पोटेंशियल में वे देश जिनमें वर्तमान आधार लिमिटेड है लेकिन भविष्घ्य के लिए पोटेंशियल ज्यादा है।

– लीगैसी में वे देश जिनका वर्तमान आधार तो मजूबत है लेकिन भविष्घ्य में रिस्क दिखता है। इस कैटेगरी में भारत को रखा गया है।

– वहीं, नैसेंट में वे देश शामिल हैं, जिनमें लिमिटेड वर्तमान आधार के साथ भविष्घ्य में भी कम क्षमताएं दिखती हैं।

5वें नंबर पर मैन्युफैक्चरिंग पर भारत

जारी रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में भारत 5वें नंबर पर सबसे बड़ा मैन्यूफैक्चरिंग देश में हैं। 4 श्रेणियों में बंटे देशों को भारत को लीगैसी श्रेणी में रखा गया है। इस श्रेणी में भारत के साथ में हंगरी, मैक्सिको, फिलीपींस, रूस, थाइलैंड और तुर्की शामिल है। वहीं चीन को लीडिंग, दक्षिण अफ्रिका और ब्राजील को नैसेंट कैटगरी में रखा गया है।

यह भी पढ़ें

बरेली के अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, दो महिला मरीजों की मौत

प्लेन में घूमने का सपना होगा सच, सिर्फ 99 रूपए में करें भारत के 7 शहरों की यात्रा

“अंगूरी भाभी” बनीं Bigg Boss-11 की विनर, इन 5 बड़ी बातों ने दिलाया खिताब

Sponsored