page level


Wednesday, January 17th, 2018 12:55 AM
Flash
15/01/2018

जानिए क्यों बांधते हैं कलाई पर पचरंगी धागा




Art & Culture

Sponsored




kalawa-f

अक्सर हम जब भी किसी मंदिर जाते हैं तो पूजा करने के बाद पंडितजी हमारी कलाई पर पचरंगी धागा बांध देते हैं। इसे कुछ लोग मौली या कलावा भी कहते हैं। ये कई जगह पर लाल रंग का भी होता है। इसे बंधवाते समय हम बिना कुछ सोचे समझे इसे बंधवा लेते हैं। कुछ लोग ऐसा भी मानते हैं कि इस धागे को बंधवाने से भगवान बीमारियों से रक्षा करते हैं। इस धागे को लेकर लोगों की अलग-अलग तरह की मान्यताएं हैं। आइए आपको बताते हैं कि आपकी कलाई पर बंधे इस धागे से आपको क्या-क्या फायदे होते हैं और क्यों बांधा जाता है…

red-thread

आपको ये तो याद ही होगा कि आपने कभी भी कलावे को यानी पचरंगी धागे को ऐसे ही कभी नहीं बांधा होगा। एक निश्चित समय पर ही इसे बांधा होगा या जब कभी आपके घर में कोई पूजा हुई होगी तभी बांधा होगा। आपको बता दें कि कलावा बांधने का भी एक विधान होता है और इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक रहस्य छुपा है।

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें


Select Categories