Tuesday, September 19th, 2017 18:52:38
Flash

5 Star Ad के रमेश और सुरेश असल जिंदगी में भी गहरे दोस्त है




5 Star Ad  के रमेश और सुरेश असल जिंदगी में भी गहरे दोस्त हैEntertainment

Sponsored




‘पिताजी की पतलून एक बिलांग छोटी कर दो’, ‘रमेश…सुरेश- सुरेश…रमेश’ शायद आप लोगों को कुछ बताने की जरूरत नहीं है, जिस तरह से सुरेश – रमेश के किरदार दर्शकों के मन में बसे है। हम अक्सर टेलीविजन, फिल्म, बिजनेसमेन की फेमस जोडियों की बारे में बात करते हैं, लेकिन 5 स्टार वाले रमेश-सुरेश की जोड़ी भी अब किसी पहचान की मोहताज नहीं है। लेकिन क्या आप जानते है रमेश – सुरेश की जोड़ी के बारे में, जो कुछ सेकेण्डस के एड में भी आपको हंसा देते हैं वो तकरीबन 11 सालों से 5 स्टार के विज्ञापन कर रहे है। आज हम आपको रमेश और सुरेश की इस शख्सियत के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें देखते ही आप अपना काम कुछ सेकेण्डस के लिए रोक देते है।

राणा प्रताप सेंगर और गोल्डी दुग्गल निभाते है रमेश और सुरेश का किरदार। एक इंटरव्यू में राणा ने बताया था कि, जब उनका पहला एड शूट हो रहा था उस समय डायरेक्टर प्रशांत सिप्पी ने कहा था कि प्रार्थना करो कि हम इस तरह के 10 एड और शूट करें। इसके बाद हमने करीब 25 टीवी, 250 डीजिटल और एक 30 मिनिट की फिल्म शूट की थी। जो एक तरह से हमारे लिए अप्रत्याक्षित (अनएक्सपैक्टेड) था।

 

यह है  रमेश

राणा प्रताप सेंगर यानी की रमेश जबलपुर के जीएस कॉलेज से शिक्षित हैं और जबलपुर के इंडियन पिपल्स थियेटर आसोसिएशन में आठ साल तक थियेटर आर्टिस्ट रह चुके है। राणा ने भोपाल में थियेटर आर्टिस्ट हबीब तनवीर के साथ में स्टेज शेयर किया था, जिसके कुछ समय बाद वह मुंबई चले गए। राणा ने मुंबई आने के बाद मेहम्मूद फारूकी के साथ भी काम किया हैं। इन्होंने कुछ बॉलीवुड फिल्में भी कि है। 5स्टार एड के ऑडिशन हो रहे थे जिसमें राणा पहले ऑडिशन में पास नहीं हो पाये थे, तो अगले दिन चश्मा पहन कर आ गए। उन्होंने कहानी बनाई कि वो कल वाले लड़के के भाई हैं। इसके बाद उन्होंने वहीं पर डायरेक्टर के अनुसार कुछ एक्ट करके दिखाया और उनका सिलेक्शन हो गया। राणा ने साथ ही थम्स अप और बिरला पुट्टी के लिए भी एड्स किए है।

 

और यह है सुरेश

गोल्डी दुग्गल यानी की  सुरेश शुरू से ही डायरेक्टर ही बनना चाहते है। कई फिल्मों में उन्होंने बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर ओ माय गॉड, ऑल इज़ वेल और तलाश फिल्म में काम किया है। राणा को आप ने सिर्फ 5 स्टार के एड में ही देखा होगा। गोल्डी का ‘रमेश’ के किरदार के लिए सिलेक्ट होना किसी सौभाग्य से कम नहीं है। एक दिन उन्हें कास्टिंग डायरेक्टर की तरफ से फोन आता है, उस समय उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया था। उन्हें एक बार फिर से कास्टिंग डायरेक्टर का फोन आता है। तब वह डिसाइड करते और श्रीजी स्टूडियों में अपना ऑडिशन देते हैं, 5 दिन तक यह ऑडिशन चलने के बाद उनका 600 कैंडिडेट्स में से उनका सिलेक्शन हो जाता है।

रील से रीयल लाईफ में भी गहरे दोस्त हैं

आपको बता दें कि राणा प्रताप सेंगर और गोल्डी बहल असल जिंदगी में भी गहरे दोस्त हैं। उन दोनों कि बॉन्डींग रीयल लाइफ में भी काफी गहरी है। इंटरव्यू में गोल्डी ने कहा था कि, ‘हम दोनों के बीच कोई इगो नहीं है कि उसका रोल बड़ा है और मेरा छोटा है। और अगर यह चीज हम दोनों के बीच आ जाएगी उस दिन रमेश और सुरेश के किरदार में वो मज़ा नहीं रहेगा।’ दोनों के साथ कुछ इस तरह की घटना भी हो चुकी है कि असल जिंदगी में लोग इन्हें पहचान ही नहीं पाते है। एक बार वॉचमैन ने उन्हें कैडबरी के ऑफिस में नहीं घुसने दिया था। जब वह अपना विग और मेकअप कर के वो वापस आए, तो वह चौकीदार भी उसी लाइन में खड़ा था, जिन्हें रमेश और सुरेश का ऑटोग्राफ चाहिए था।

मीडिया को राणा ने बताया था कि, ‘एक समय ऐसा आया था जब हम 5 स्टार का बैंक रोबरी वाला शूट करने वाले थे तब हमने प्रसून पाण्डे से स्क्रिप्ट के बारे में पूछा तो वह कहते है कि, ‘अरे तुम लोग जानते हो क्या करना हैं।’ आपको यह जरूर सोचते होंगे कि इन्हें कितनी बार फ्री में यह चॉकलेट खाने को मिलती है। लेकिन असल में एड के डिफरेंट तरीके से शॉट लेने के लिए उन्होंने एक दिन में शूट पर 50 बार 5 स्टार तक खाना पड़ जाती थी। तो यह असल में रमेश और सुरेश की कहानी।

 

Sponsored



Follow Us

Yop Polls

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही जानकारी पर आपका क्या नज़रिया है?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories