page level


Sunday, December 17th, 2017 04:18 AM
Flash




मेरे किसी पत्र का जवाब नहीं दिया मोदी ने, अब जब तक नाक नहीं दबेगी मुंह नहीं खुलेगा: अन्ना हजारे




मेरे किसी पत्र का जवाब नहीं दिया मोदी ने, अब जब तक नाक नहीं दबेगी मुंह नहीं खुलेगा: अन्ना हजारेPolitics

Sponsored




अन्ना हजारे ने मोदी सरकार का विरोध करते हुए कहा है कि मैंने अब तक प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी को 32 पत्र लिखे हैं, लेकिन मोदी ने अब तक किसी भी पत्र का जवाब नहीं दिया है। हम उनसे जानना चाहते हैं कि वे बहुत व्यस्त हैं इसलिए जवाब नहीं दे पा रहे या फिर उनके दिल में ईगो है। लेकिन अब बहुत हो गया। अब जब तक नाक नहीं दबेगी, मुंह नहीं खुलेगा। अन्ना हजारे मध्यप्रदेश के खजुराहो में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय जल सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह नाक दबाने पर ही मुंह खुलता है, उसी तरह जब तक सरकार को ये डर न हो कि विरोध के डर से उनकी सरकार गिर सकती है तक तक वे हमारी नहीं सुनेगी।

उन्होंने आगे कहा कि हमने कांग्रेस सरकार को 70 पत्र लिखे थे और 2011 में रामलीला मैदान में आंदोलन करने पर सरकार ने लोकपाल विधेयक पारित कर दिया था। लेकिन तब उसमें कुछ कमी रह गई थी। वर्तमान सरकार ने तो उसे और कमजोर कर दिया है। इसलिए अब हम 23 मार्च से आंदोलन शुरू कर रहे हैं। ये आंदोलन तब तक चलेगा जब तक लोकपाल कानून को मजबूत नहीं किया जाता और किसानों का कर्ज माफ नहीं हो जाता। बता दें कि 23 मार्च भगतसिंह और राजगुरू का शहीद दिवस है।

उन्होंने उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने को लेकर सवाल उठाया और कहा कि- उद्योगपतियों को किस बात की कमी नहीं है। गरीबी के कारण वो तो फांसी नहीं लगा रहे न ही आत्महत्या करने को मजबूर हैं, तो सरकार उनका हजारों करोड़ का कर्ज माफ कर रही है, तो क्या किसानों का 60-70 हजार करोड़ का कर्ज माफ नहीं कर सकती। हमारी तो यही गुजारिश है कि 60 साल से ज्यादा उम्र के किसानों को पांच हजार रूपए मासिक पेंशन दी जानी चाहिए। आसानी से सरकार हमारी नहीं सुनेगी, इसलिए अब हम आंदोलन करके जेल जाने को भी तैयार हैं।

यह भी पढ़ें

https://www.youthensnews.com/anna-hazare-protest-again-against-modi-government/

अन्ना हजारे ने कहा, ‘केजरीवाल से अब कोई उम्मीद नहीं है’

देश में युवा जागृत तो है लेकिन बस मंच पर फोटो खिंचवाने तक: अन्ना हजारे

 

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें