page level


Thursday, August 16th, 2018 05:54 AM
Flash

असम के CM बांग्लादेशी या भारतवासी ? जानिए क्या है सच




असम के CM बांग्लादेशी या भारतवासी ? जानिए क्या है सचPolitics



एनआरसी लिस्ट आने के बाद से असम में हंगामा मचा हुआ है। इसमें 40 लाख लोगों का नाम न होने की वजह से लोगों के मन में अब कई सवाल उठ रहे हैं। इस बीच असम के सीएम बिप्लब देब की नागरिकता पर भी उंगली उठाई जा रही है। तीन दिन तक इस मुद्दे पर ऑनलाइन विवाद चला, जिसके बाद बिप्लब देब ने चुप्पी तोड़ते हुए सच्चाई का खुलासा किया है। उन्होंने साफ कर दिया है कि वे भारत में ही पैदा हुए हैं।

क्या है मामला-

दरअसल, बिप्लब देब का विकीपीडिया पेज में पिछले तीन दिनों से उनकी जन्मस्थली बांग्लादेश दिखा रहा था। उनके जन्मस्थान को बदलकर बार-बार बांग्लादेश किया जा रहा था। जिसे लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। फाइनल ड्राफ्ट जारी होने के बाद असम में नागरिकता को लेकर विवाद शुरू हो गया था, वहीं पिछले तीन दिन से बिप्लब देब का विकीपीडिया पेज भी जंग का मैदान बना हुआ है।

3 दिन में 37 बार एडिट किया गया पेज-

इस मुद्दे को लेकर इतनी बहस छिड़ी है कि हालात ये हैं कि पिछले तीन दिन में गुरूवार से शनिवार तक बिप्लब देब का वीकिपीडिया पेज 37 बार एडिट किया गया है। इसमें उनके जन्मस्थान को त्रिपुरा के गोमती जिले से बदलकर बांग्लादेश के चांदपुर बताया जा रहा था।

इसमें सबसे पहले बदलाव गुरुवार सुबह 10 बजकर 38 मिनट पर किया गया, जिसमें बिप्लब के जन्मस्थान को बदलकर चांदपुर के कछुआ उपजिला के राजधर नगर किया गया। इसके बाद 1 बजकर 11 मिनट बजे उनका जन्मस्थान राजधर नगर गांव से बदलकर त्रिपुरा का गोमती जिला कर दिया गया। दोपहर 2 बजकर 37 मिनट पर फिर से बदलाव करते उन्हें बांग्लादेशी बताया गया और जन्मस्थान चांदपुर कर दिया गया।

मां बांग्लादेश में गर्भवती, डिलीवरी हुई भारत में

इस संबंध में बिप्लब देब के मीडिया एडवाइजर संजस मिश्रा ने सभी तथ्यों का खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि बिप्लब देब का जन्म 25 नवंबर 1971 को उदयपुर अब गोमती जिला में हुआ था। उनके पिता हरधन ने 27 जून 1967 को नागरिकता अधिनियम 1955 के तहत खुद को त्रिपुरा के उदयपुर निवासी के रूप में रजिस्टर कराया था। अब सवाल ये उठता है कि विप्लब देब बांग्लादेशी हैं या भारतवासी, तो इसका जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि बिप्लब देब भारत के ही निवासी हैं। उनकी मां बांग्लादेश में गर्भवती हुई, लेकिन उनकी डिलीवरी भारत में हुई थी। ऐसे में त्रिपुरा के सीएम भारत के ही नागरिक हैं। उन्होंने आगे कहा कि ऐसी साइटों की निगरानी होनी चाहिए, तो गलत अफवाहों को फैलाती है। ऑनलाइन लोगों को क्या परोसा जा रहा है, इस पर नियंत्रण होना जरूरी है।

यह भी पढ़ें

विप्लब देब ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, जानिए क्यों विप्लब को सौंपी गई ये जिम्मेदारी

इस CM ने ब्यूटी कॉन्टेस्ट पर दिया विवादित बयान, कहा- डायना नहीं बल्कि ये हैं “रीयल ब्यूटी”

इन वजहों से त्रिपुरा में बीजेपी परचम लहराने में रही कामयाब

त्रिपुरा सरकार पर लगा वसूली का ऐसा अनोखा आरोप

 

Sponsored