page level


Tuesday, September 18th, 2018 06:42 PM
Flash

अटल बिहारी और 13 नंबर का है खास कनेक्शन, जानिए कैसे….




अटल बिहारी और 13 नंबर का है खास कनेक्शन, जानिए कैसे….Politics



आपने कई बार सुना होगा कि 13 नंबर अशुभ होता है। यही वजह है कि कोई भी अच्छा काम हो, उसे 13 तारीख को नहीं किया जाता। यहां तक की कई होटलों में 13वीं मंजिल और 13 नंबर का रूम नहीं होता। क्योंकि इसे अनलकी माना जाता है। ये बात सही भी है, कि लोगों के लिए 13 नंबर अशुभ होता है, लेकिन देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लिए हमेशा से ये नंबर काफी खास रहा। ये नंबर न केवल उनकी जिन्दगी में अच्छे पल लेकर आया, बल्कि अब इस नंबर से उनका खास कनेक्शन ही बन गया है।

अटल बिहारी खुद 13 नंबर को अपना लकी नंबर मानते हैं। बता दें कि वाजपेयी का स्वास्थ्य बिगड़ गया है और उन्हें दिल्ली के एम्स में पिछले 24 घंटे से फुल टाइम सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। अब तक आ रही खबरों के अनुसार वे अब भी वेंटिलेटर पर हैं।

क्या है अटल बिहारी और 13 नंबर का कनेक्शन-

13 मई 1996 में उन्होंने पहली बार प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली लेकिन बहुमत न साबित कर पाने की वजह से 13 दिन बाद ही उनकी सरकार गिर गई थी। जब दोबारा प्रधानमंत्री बने 13 महीने बाद उनकी सरकार गिर गई। तीसरी बार जब अटल बिहारी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ तो उन्होंने 13 दलों के साथ मिलकर सरकार बनाई। इस बार उन्होंने 13 अक्टूबर 1999 को पद की शपथ ली।

जब अटल बिहारी वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे थे तो उनको कई लोगों ने कहा कि 13 नंबर आपके लिए लकी नहीं है इसलिए आप किसी और दिन शपथ लीजिए लेकिन अटल जी ने किसी की बात न मानते हुए 13 अक्टूबर को ही शपथ ली और उनकी सरकार पूरे 5 साल चली। हालाकि 2004 के चुनाव में 13 मई को मतगणना में बीजेपी को सत्ता गंवानी पड़ी थी। इस चुनाव में वाजपेयी ने 13 अप्रैल को नामांकन दाखिल किया था।

यह भी पढ़ें

अटल जी से मिलने पहुंचें मोदी ने किया सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन

IMS में भर्ती हुए अटलजी, डॉक्टरों ने कही ये बात

नहीं रहे अटलजी, वॉट्सऐप पर तेजी से घूम रही है ये ख़बर, जानिए क्या है सच्चाई

13 दिन में गिर गई थी अटलजी की सरकार, इस्तीफे के बाद ऐसे की थी वापसी

Sponsored