page level


Monday, July 23rd, 2018 12:11 AM
Flash

क्यों टीवी पर बार-बार दिखते हैं ये “रैंडम नंबर्स”, जानिए इसके पीछे का गणित




क्यों टीवी पर बार-बार दिखते हैं ये “रैंडम नंबर्स”, जानिए इसके पीछे का गणितAuto & Technology



जब आप कभी टीवी पर कोई मूवी या सीरियल देख रहे हों, तो आपने ध्यान दिया होगा कि इस पर छोटे से काले बॉक्स में सफेद रंग में लिखे हुए कुछ अजीब नंबर दिखाई देने लग जाते हैं।  वैसे कई लोग इन्हें देख नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि टीवी पर दिखने वाले ये रैंडम नंबर्स आखिर दिखते क्यों हैं। ज्यादातर लोग तो इन नंबरों को देखकर ये सोचने लग जाते हैं कि ये नंबर चैनल के कंट्रोल रूम या सैटेलाइट से दिखाए जाते हैं और वहीं नंबर सिर्फ हमारी नहीं बल्कि दुनिया की हर एक टीवी पर एक सा ही दिखता है। ऐसे में अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोचते हैं, तो आपको बता दें कि आपकी ये सोच गलत है। अब जानिए इन नंबरों के पीछे का असली गणित।

टीवी पर दिख रहा नंबर होता है यूनिक-

अक्सर जब भी किसी टीवी पर कोई शो या मूवी देचा रहे होते हैं, तो टीवी स्क्रीन के कोनों या कभी-कभी एक्टर्स के चेहरे पर ही हमें कुछ रैंडम नंबर्स नजतर आते हैं, लेकन इन नंबरों के पीछे सबसे अनोखा लॉजिक यह है कि आपकी टीवी पर दिखने वाले कोई भी नंबर पूरी तरह से अलग हैं। यानि की वजह नंबर देश में किसी भी दूसरे टीवी पर नहीं दिख सकता।

आठ डिजिट में होता है नंबर-

ये नंबर आठ डिजिट के होते हैं और इनमें अंग्रेजी के अक्षर और एक से जीरो तक के नंबर रैंडम ऑर्डर में लिखे होते हैं। आमतौर पर ये नंबर कुछ सैंकंड के लिए ही दिखाई देते हैं। इसके बाद अपने आप ही स्क्रीन से गायब हो जाते हैं। शायद आप नहीं जानते होंगे कि इस नंबर की मदद से ही डिजिटल टीवी प्रोवाइडर या कोई भी टीवी चैनल यह आसानी से पता कर सकते हैं कि संबंधित नंबर वाली टीवी कनेक्शन या सेटटॉप बॉक्स किस कंज्यूमर के घर पर लगा है।

मूवी या शो की पायरेसी रोकते हैं ये नंबर्स-

विशेषज्ञों के अनुसार टीवी के तमाम चैनल पर मूवी या शो के दौरान यूं ही कभी भी दिखाई देने वाले ये रैंडम नंबर्स पायरेसी को रोकने के लिए बहुत मददगार साबित होते हैं। आपको बता दें कि अगर कोई टीवी उपभोक्ता अपने घर की टीवी पर कैमरा या स्क्रीन रिकॉर्डर लगाकर किसी भी शो या फिल्म को रिकॉर्डं करता है तो जब भी वो पायरेटिड वीडियो दोबारा दिखाया जाएगा, तो रिकॉर्डिंग शो या फिल्म में ये नंबर भी दिखाई देते हैं। जिससे कोई भी टीवी कंपनी और चैनल इन नंबरों की मदद से आसानी से टीवी प्रोग्राम को रिकॉर्ड करने वाले व्यक्ति को पकड़ सकती है।

चैनलों को नुकसान से बचाते हैं ये नंबर-

देखा गया है कि महंगे शो मूवी प्रीमियर का प्रसारण सिर्फ एक बार ही दिया जाता है, इसलिए कुछ लोग उसके रिकॉर्ड करके यानि पायरेसी करके उन्हें किसी लोकल प्राइवेट चैनल को अच्छे दामों में बेच देते हैं। या फिर इंटरनेट वेबसाइट पर डाउनलोड कर देते हैं। इससे आमतौर पर चैनल को काफी नुकसान होता है। ऐसे में इस तरह की पायरेसी को रोकने के लिए ही टीवी प्रसारण कंपनियां हर टीवी स्क्रीन पर इस तरह के रैंडम बिल्कुल अलग नंबर डिस्प्ले करती रहती हैं। बता दें कि ये नंबर सॉफ्टवेयर द्वारा ऑटोमेटिड होते हैं और कभी भी दिखाई दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें

टीवी की संस्कारी बहू ने किया टॉवल पर बोल्ड डांस, Video viral

टीवी का यह एक्टर बना खिलजी, रणवीर को किया इस हद तक कॉपी कि पहचानना मुश्किल

टीवी एड ने समझायी मां की अलग पहचान

Sponsored