page level


Wednesday, September 19th, 2018 12:06 AM
Flash

आज जमा करें पैसा, बदले में कल मिलेगा Gold, मोदी सरकार ला रही विशेष अकाउंट




आज जमा करें पैसा, बदले में कल मिलेगा Gold, मोदी सरकार ला रही विशेष अकाउंटBusiness



देश में गोल्ड के प्रति बढ़ रही लोगों की चाह को देखते हुए मोदी सरकार अब गोल्ड से जुड़ा एक नया बैंक अकाउंट लांच करने जा रही है। इस अकाउंट की कई खास बातें हैं, लेकिन सबसे अच्छी बात ये है कि जैसे ही आप इसमें पैसा जमा करेंगे, आपको गोल्ड एलॉट हो जाएगा। यानि की जितनी भी रकम आप बैंक में जमा करेंगे आप उतने ही रकम के गोल्ड के मालिक बन जाएंगे। गोल्ड का रेट उसी का माना जाएगा।

वित्त मंत्रालय के उच्च अधिकारियों के अनुसार, इस योजना को सरकार शहरों के साथ गांवों में भी जोरदार तरीके से लॉन्च करना चाहती है, ताकि आम ग्रामीण भी इस योजना से लाभान्वित हो सकें। इसके लिए बैंकों के साथ पोस्ट आफिसों की चेन का भी भरपूर इस्तेमाल किया जाएगा, ताकि इस योजना का लाभ आम आदमी तक पहुंच सके।

पैसे के बदले निकाल सकेंगे गोल्ड-

इस नए अकाउंट की दूसरी अच्छी बात यह है कि आपको भविष्य में कभी गोल्ड के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। क्योंकि ये अकाउंट आपको आपके ही जमा पैसों के बदले गोल्ड एलॉट करेगा। ये आप पर निर्भर करेगा कि आप पैसा लेते हैं या फिर गोल्ड। यानि लोग आज पैसा जमा करके कल गोल्ड निकाल सकते हैं।

 गोल्ड की मात्रा के रूप में होगी पासबुक में एंट्री-

इस अकाउंट से जुड़ी पासबुक में बैंक गोल्‍ड के रूप में भी इंट्री करेंगे। लोग जैसे ही अकाउंट में पैसे जमा करेंगे उनको गोल्‍ड एलाट हो जाएगा। इस गोल्‍ड की इंट्री पासबुक में गोल्‍ड की मात्रा के रूप में होगी। इस अकाउंट पर ब्‍याज भी दिया जाएगा, लेकिन अभी इसकी दरों को लेकर फैसला नहीं किया गया है।

गोल्ड के बढ़ते आयात को लेकर की गई सिफारिश-

कुछ समय पहले नीति आयोग ने मोदी सरकार से एक ऐसे ही अकाउंट लाने की अपील की थी। नीति आयोग ने कहा था कि देश में बढ़ रहे गोल्ड के आयात के लिए गोल्ड सेविंग अकाउंट जैसा कोई प्रोडक्ट लाया जाना चाहिए। इसके अलावा नीति आयोग ने गोल्‍ड पर आयात शुल्क घटाने का भी सुझाव दिया है। फिलहाल सोने पर आयात शुल्क की दर 10 प्रतिशत है। वहीं जीएसटी की दर भी मौजूदा के 3 प्रतिशत से नीचे लाने का सुझाव दिया है।

इस अकाउंट में मिलने वाले ब्याज या अतिरिक्त सोने पर कोई कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगेगा। रकम जमा करने के दौरान उस दिन सोने के बाजार भाव के हिसाब से आपके खाते में सोने की मात्रा चढ़ेगी। रकम निकालने के दौरान उस दिन सोने के बाजार भाव के हिसाब से आपको राशि या सोने लेने का विकल्प दिया जाएगा।

वित्त मंत्रालय के उच्च अधिकारियों का कहना है कि सरकार चाहती है कि गोल्ड का इंपोर्ट कम हो। फिलहाल गोल्ड की डिमांड भी कम हुई है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 की पहली तिमाही में भारत में गोल्ड की डिमांड 12 फीसदी कम हुई है। यह 131.2 टन से घटकर सिर्फ 115.6 टन रह गई है। पहले जहां 34,400 करोड़ रुपये के सोने की मांग थी वहीं जनवरी-मार्च के दौरान घटकर 31,800 करोड़ रुपये रह गई। इस संबंध में नीति आयोग के प्रमुख सलाहकार रतन पी वाटल की अगुवाई वाली समीति की ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि सोने पर सीमा शुल्क जितना संभव हो नीचे लाया जाए। समीति के अनुसार मोदी सरकार के इस विशेष अकाउंट से सोने की स्थिति सुधरने की भी संभावना है।

यह भी पढ़ें

पढ़ाई से बचने के लिए सौरभ ने बनाया था शूटिंग में करियर, बताया कैसे जीता गोल्ड

गोल्ड से भी ज्यादा महंगी है ये फफूंद, कई बिमारियों से दिलाती है छुटकारा

पहला Gold मिलने पर कैसा फील करते हैं खिलाड़ी, सचिन से लेकर सानिया ने बताई अपनी फीलिंग

Sponsored