page level


Thursday, July 19th, 2018 01:14 PM
Flash

जानिए, इन भगवान को प्रसाद के रूप में शराब चढ़ाई जाती है




जानिए, इन भगवान को प्रसाद के रूप में शराब चढ़ाई जाती हैSpiritual



दुनिया में कई बार इस तरह की विचित्र चीजें होती है जिन पर हमें कभी विश्वास ही नहीं होता है। इन अविश्वसनीय और अंधविश्वास को मानने में भारत बहुत आगे है। जिसके बाद वह शायद ही कभी वैज्ञानिक मान्यताओं पर भरोसा करें। जिसका एक उदाहरण हमने हाल ही देखा है कि सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद महांकाल में अब से आरो का पानी चढ़ाया जाता है। लेकिन जब अपने आराध्य भगवान को खुश करने की बात आती है तो भक्त किसी भी हद तक जा सकते है। जैसे कि कहीं भक्त नंगे पैर यात्रा कर रहा है तो कही अपने घुटने के बल, लेट कर यात्रा कर रहा है। ऐसी की एक भेंट जो भगवान को चढ़ाई जाती है वह है शराब। चौखिए मत! और इन भगवान को भारत के शराबी भगवान कहा जाता है। बताते है आपको इस मंदिर से जुड़ी खास बातें-

उज्जैन का प्रसिद्ध मंदिर

मप्र के उज्जैन में स्थित काल भैरव का मंदिर है। जहां पर लोग भगवान को खुश करने के लिए शराब की बोतल लाते है। यह मंदिर आराध्य देव काल भैरव को समर्पित किया है, जो कि नगर के रखवाले देवता है। इसे हिंदुओं का प्राचीन रहस्यमय मंदिर है। आपको बता दें कि भैरव को शंकर भगवान का सबसे भयानक रूप माना जाता है। काल भैरव उन 8 भैरवों में सबसे मुख्य हैं, इसलिए उनको पूजा जाता है।

भगवान को शराब चढ़ाते है

भक्त मंदिर में शराब लाते हैं जिसके बाद भक्तों को प्रसाद के रूप में भी शराब ही दी जाती है। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि भगवान शराब पीते भी है। जो पुजारी मंदिर में करते है वह बताते है कि यहां कई अध्ययनकर्ता और वैज्ञानिक आए जिन्होंने पता करने की कोशिश भी कि की यह शराब कहां जाती है। यह रहस्य आज तक जारी है।

यह भी पढ़ें

वैष्णोदेवी के बाद अब अमरनाथ यात्रा पर NGT का फरमान, साइलेंट जोन घोषित हो गुफा

जानें आखिर कैसे शुरू हुआ “खिचड़ी” का सफरनामा

दांतों से जानिए अपना भविष्य और स्वभाव

Sponsored