page level


Wednesday, June 20th, 2018 11:12 AM
Flash

बहुत ही खास है Fifa World Cup में इस्तेमाल होने वाली ये “बॉल”, इस देश ने की है डिजाइन




बहुत ही खास है Fifa World Cup में इस्तेमाल होने वाली ये “बॉल”, इस देश ने की है डिजाइनSports



फुटबॉल का महासंग्राम फीफा वल्र्डकप 2018 14 जून से रूस में शुरू होने जा रहा है। इस बार फुटबॉल के इस गु्र्रप में आठ ग्रुप होंगे, जिसमें 32 टीमें हिस्सा लेंगी। ये तो हुई वल्र्ड कप की बात, अब बात अगर इसमें इस्तेमाल होने वाली फुटबॉल की करें तो ये बॉल बहुत खास होती है। वल्र्ड कप से पहले ये गेंद चर्चा में आ जाती है।

हालांकि 1930 से अब तक इस बॉल में कई बदलाव हुए। फुटबॉल के वल्र्डकप में होने वाले इस परिवर्तन पर काफी ध्यान दिया जाता है। खबरों की मानें तो इस बार वल्र्ड कप में हाइटैक गेंद का इस्तेमाल किया जा रहा है। ये कोई साधारण गेंद नहीं बहुत ही खास और हाईटैक गेंद होगी।

फुटबॉल में लगी हाईटैक चिप-

फीफा वल्र्डकप में इस्तेमाल की जाने वाली इस बॉल में हाईटैक चिप लगी है। इस चिप को मोबाइल से कनेक्ट कर सकते हैं। इससे खेल से जुड़े कई आंकड़े हासिल किए जा सकते हैं। इस बॉल का नाम टेलस्टार-18 बताया जा रहा है। इस बॉल को स्पोट्र्स जगत की मशहूर कंपनी एडिडास ने तैयार किया है।

विशेषज्ञों की मानें तो इस गेंद का इस्तेमाल 1970 और 1974 के वल्र्डकप में भी हुआ था। 19970 टेलस्टार बॉल की तरह ही इस बार भी बॉल को ऐसे ही डिजाइन किया गया है। बता दें कि पुरानी टेलस्टार बॉल में 32 पैनल वॉल थे, वहीं हाईटैक फुटबॉल में 6 पैनल वॉल हैं।

1994 के बाद मिला ब्लैक एंड व्हाइट कलर-

1994 के बाद पहली बार इस बॉल को ब्लैक एंड व्हाइट कलर दिया गया। आपको जानकर हैरत होगी कि इस बॉल टेलस्टार 18 का निर्माण पाकिस्तान में हुआ है। इसे एडिडास कंपनी के साथ काम करने वाली कंपनी फॉरवर्ड स्पोट्र्स ने बनाया है।

600 से ज्यादा खिलाडिय़ों से किया है टेस्ट-

इस बॉल को अब तक 600 से ज्यादा खिलाड़ी टेस्ट कर चुके हैं। इससे पहले गेंद का इस्तेमाल साल 2017 के फीफा क्लब विश्वकप के सेमिफाइनल में हुआ था।

टूर्नामेंट में होता है 700 से ज्यादा गेंद का इस्तेमाल-

टेलस्टार की सतह को 3डी टेक्नोलॉजी से तैयार किया गया है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस बॉल को खिलाड़ी सामान्य बॉल की तुलना में अच्छे से कंट्रोल कर सकता है। बता दें कि फुटबॉल के एक मैच में 11 गेंदों का इस्तेमाल होता है। वहीं फीफा वल्र्ड कप जैसे टूर्नामेंट में करीब 700 से ज्यादा गेंदों का इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ें

FIFA World Cup 2018 : 1950 में भारत ने भी किया था क्वालिफाई, इस वजह से नहीं खेला था ‘वल्र्ड कप’

FIFA world cup 2018 रशिया के इन 12 स्टेडियम में खेला जाएंगा फुटबॉल, तस्वीरें देखें

ISIS के निशाने पर “फीफा वल्र्ड कप 2018”, जारी की मैसी की दर्दनाक तस्वीर

फुटबॉल की दुनिया का ये सितारा बना इस देश का राष्ट्रपति

Sponsored