page level


Monday, February 19th, 2018 12:43 PM
Flash

80 हजार रूपए महीने देगी मोदी सरकार, बस नहीं करना है यह काम




80 हजार रूपए महीने देगी मोदी सरकार, बस नहीं करना है यह कामEducation & Career




हाल ही में कुछ दिन पहले वेल्थ माइग्रेशन रिपोर्ट जारी की गई थी जिसमें यह बात सामने आई थी कि 16 प्रतिशत की दर्ज से अमीर भारतीयों में पलायन बढ़ा है। 3 साल से पलायन के क्षेत्र में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की है। पिछले साल से अब तक करीब 7000 लोग पलायन कर चुके है। चूकि भविष्य की चिंता करते हुए सरकार ने देश से प्रतिभा पलायन को रोकने के मकसद से क्रेंद्रिय सरकार ने उच्च शिक्षा संस्थानों के छात्रों के लिए पीएम रिसर्च फेलोशिप (PMRF) को मंजूरी दी है। इसमें बड़े संस्थानों से पासआउट छात्रों को मौका दिया जाएंगा। इसके लिए सरकार ने 1650 करोड़ रूपए फन आवंटित किए है। छात्रों के लिए देश की यह अब तक की सबसे बड़ी स्कॉलरशिप होगी।

2 लाख रूपए तक का वार्षिक ग्रांट

इस योजना के तहत स्कॉलर्स के लिए 70 हजार रूपए से 80 हजार रूपए तक की मासिक छात्रवृत्ति और 2 लाख रूपए तक का वार्षिक रिसर्च ग्रांट्स दिया जाएगा। साथ ही रिसर्च की चाहत रखने वाले इंजीनियरिंग ग्रैजुएट्स को एक और लाभी दिया गया है। पीएमआरएफ के लिए शॉर्टलिस्ट हुए आईआईएसईआर, आईआईटी और एनआईटी के बीटेक ग्रेजुएट्स आईआईटीज और आईआईएससी बैंगलुरू से सीधे पीएचडी भी कर सकते हैं।

पीएच डी प्रोग्राम में सीधे दाखिला

इस स्कीम के तहत 1000 स्कॉलर्स को सालाना स्कॉलरशिप दी जाएंगी। साथ ही बड़ी संस्थानों में रिसर्च से जुड़ी सवुविधाओं को अपग्रेड भी किया जाएंगा। विकास मंत्री प्रकाश जावेडकर ने काह कि इस से बीटेक ग्रैजुएट्स या इंटेग्रेटिड एमटेक या साइंस और टेक्नॉलजी स्ट्रीम्स में एमएससी से ग्रैजुएट्स को आईआईटीज – आईआईएससी में पीएचडी प्रोग्राम में सीधे दाखिला लेने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि इस स्कीम को 2018 – 19 ऐकडेमिक सेशन से लागू किया जाएगा और इसके लिए न्यूनतम स्कोर 8.5 सीजीपीए होना चाहिए।

स्कॉलरशिप से जुड़ी अहम बातें

1. पीएम रिसर्च फेलोशिप यह उच्च शिक्षा संस्थानों जैसे आईआईटीज, आईआईएसईआर और एनआईटी छात्रों के लिए उपलब्ध होगी।

2. इंटरनैशनल कॉन्फ्रेंस और सेमिनार्स में रिसर्च पेपर्स पेश करने के लिए विदेश यात्रा खर्च के तौर पर पांच सालों तक हर साल 2.2 लाख रुपये का रिसर्च ग्रांट मुहैया कराया जाएगा।

3. इसमें चुने हुए स्कॉलर्स को पहले दो साल तक 70,000 रुपये हर महीने, तीसरे साल 75,000 रुपये हर महीने और चौथे एवं पांचवे साल 80,000 रुपये हर महीने मिलेंगे।

4. स्कीम के तहत साल में 1000 स्कॉलरशिप दी जाएगी।

5. इसके लिए न्यूनतम योग्यता 8.5 सीजीपीए अनिवार्य होगी।

यह भी पढ़ें

रेलवे देगा आपको 1,00,000 रूपए बस करना होगा यह काम

ब्रिटेन में 8 साल की भारतीय छात्रा ने किया ऐसा काम, जानकर गर्व महसूस होगा

77 साल की नेता ने वो कर दिखाया जो मोदी अभी तक नहीं कर पाए

मानसिक गुलामी के नये दौर में भारत का बड़ा तबका

Sponsored