page level


Wednesday, January 17th, 2018 09:40 PM
Flash
15/01/2018

लालू को सलाखों के पीछे भेजने वाले जज को है खुद इंसाफ का इंतजार




लालू को सलाखों के पीछे भेजने वाले जज को है खुद इंसाफ का इंतजारPolitics

Sponsored




चारा घोटाला मामले में राजद सुप्रीमा लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की की सजा सुनाई गई है। उन्हें जेल भेजने वाले सीबीआई जज हैं शिवपाल सिंह। लेकिन हैरत भरी बात तो ये है कि जनता को न्याय देने वाले जज शिवपाल सिंह आज खुद इंसाफ पाने का इंतजार कर रहे हैं। वो भी सालों से। उन्हें जल्द से जल्द इंसाफ मिले, इसके लिए वे खुद बड़े-बड़े अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही।
बता दें कि विशेष अदालत के जज शिवपाल को सालों पुराने मामले में न्याय नहीं मिल रहा है। उन्हें तो खुद प्रशासनिक अधिकारियों के रोजाना चक्कर काटने पड़ रहे हैं। ये मामला प्रॉपर्टी का है।

सीबीआई जज मूल से उत्तरप्रदेश के जनपद जालौन गांव के रहने वाले हैं। वे फिलहाल अपनी पैतृक जमीन के बीच निकलने वाली चक रोड से परेशान हैं। उनके भाई सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि कई साल पहले वहां के प्रधान ने हमारी पैतृक जमीन के बीच में से चक रोड बना दी थी, जिसे लेकर अब तक हमें इंसाफ नहीं मिला है।  उनके भाई शिवपाल एवं उनकी जमीन शेखपुर खुर्द में अराजी नंबर 15 और 17 में है। जिसके वह संक्रमणीय भूमिधर है। उनकी जमीन पर पूर्व प्रधान ने अपने कार्यकाल के दौरान बिना किसी अधिकार के चकरोड मार्ग बनवा दिया। सरकारी कागजों में चकरोड मार्ग गाटा संख्या 13 है। उन्होंने बताया कि हमारा परिवार कई सालों से इस मामले को लेकर परेशान है, कई बार कोशिश की लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।

ये मामला सन् 2006 का है। हालांकि मीडिया के सामने ये बात आने पर वहां के उपजिलाधिकारी भैरपाल सिंह ने कहा है कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं थी, लेकिन अब मामला सामने आने से वे इस पर कार्रवाही करेंगे।

बता दें कि जज शिवपाल सिंह ने लालू यादव को भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी, 420, 467, 471 और 477 ए के तहत जेल की सुजा सुनाई थी। उन्हें आरोपी पाते हुए साढ़े तीन साल की सजा और पांच लाख रूपए जुर्माना लगाया गया। जज ने बाद में स्पष्ट किेया था कि उनकी दोनों सजा साथ-साथ चलेंगी। अगर उन्होंने पांच लाख रूपए का जुर्माना अदा नहीं किया तो उनकी जेल की सजा 6 महीने तक बढ़ा दी जाएगी।

हस्ताक्षर करने मे खत्म कर दिए थे 4 पैन-

सीबीआई जज शिवपाल सिंह ने चारा घोटाला मामले में 2400 पेज की फाइल में हस्ताक्षर किए थे। इस फाइल में साइन करते ही जज शिवपाल सिंह ने चार पेन खत्म कर दिए।

यह भी पढ़ें

चारा घोटाले में अब सीधे जेल जाएंगे लालू प्रसाद, जगन्नाथ मिश्र हुए बरी…

जेल में “लालू” को मिल गया काम, जानिए कितना मिलेगा मेहनताना

जेल में भी छाया है लालू का जादू, सेवा में पहुंचे सेवक

Sponsored






Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें


Select Categories