page level


Tuesday, August 14th, 2018 03:27 PM
Flash

लाल किले पर Modi का “रक्षा कवच” बनेंगी ये 36 महिलाएं




लाल किले पर Modi का “रक्षा कवच” बनेंगी ये 36 महिलाएं



हर साल 15 अगस्त पर देश का प्रधानमंत्री लाल किले से भाषण देता है। उनकी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाते हैं। उनकी सुरक्षा के लिए एसपीजी और पुलिस फोर्स को तैनात किया जाता है। इस बार भी पीएम मोदी की सुरक्षा को लेकर इंतजाम सख्त हैं। इस बार पुलिस फोर्स ही नहीं बल्कि पुलिस का वुमन स्कॉट कमांडो भी मोदी की रक्षा करेगा। जी हां, पहली बार पावर पफ वुमन कमांडो मोदी का रक्षा कवच बनेगा।

बता दें कि दिल्ली पुलिस का ये कमांडो दस्ता देश की किसी भी स्टेट पुलिस में पहला दस्ता है। शुक्रवार को खुद ग्रह मंत्री राजनाथ सिंह इस स्पेशन विमेन कमांडो को दिल्ली की जनता की सुरक्षा के लिए तैनात करेंगे।

दी गई है 15 महीने की ट्रेनिंग-

वैसे तो कमांडो ट्रेनिंग केवल 12 महीनों की होती है, लेकिन इनकी स्पेशलिटी को देखते हुए इन पावर पफ वुमन कमांडो को 15 महीने की ट्रेनिंग के बाद तैयार किया गया है। इस स्पेशल विंग में 36 कान्स्टेबल हैं। जिन्हें एनएसजी की भी ट्रेनिंग दिलाई गई है। ज्यादातर भर्तियां हाल ही में दिल्ली में हुई हैं, जिसमें से 13 असम, मणिपुर से 5, अरूणाचल प्रदेश से 5 , सिक्किम से 5, मेघालय से 4, नागालैंड से 2 और मिजोरम-त्रिपुरा से 1-1 कॉन्स्टेबल ली गई है। फिलहाल इन्हें राजपथ और विजय चौक पर तैनात किया जाएगा। इनकी ट्रेनिंग झड़ौदा कलां और मानेसर में हुई है।

बम को डिफ्यूज करने में सक्षम है ये दस्ता-

खास बात ये है कि इन विमन कॉन्स्टेबल में बम को डिफ्यूज करने की भी क्षमता है। इन्हें दिल्ली पुलिस की कमांडो से और ज्यादा कड़े तरीके से ट्रेंड किया गया है। यह सब कमांडो बख्तरबंद गाडिय़ों में तैनात होंगी। इस गाड़ी को भी विमन कमांडो ही चलाएंगी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि वर्तमान में देश के किसी भी राज्य के पास इस लेवल का विमन कमांडो विंग नहीं है।

यह भी पढ़ें

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका, सुरक्षा के लिए श्रीनगर पहुंचे NSG कमांडोज

पहली बार पीएम की SPG सुरक्षा में लेडी कमांडो

टाइट सिक्योरिटी में रहेंगे MODI , उनके पास जाने के लिए भी अब लेनी होगी “इजाजत”

Sponsored






You may also like

No Related News